Sports

नई दिल्लीः किंग्स इलेवन पंजाब को मुंबई इंडियंस ने आईपीएल टूर्नामेंट के 50वें मुकाबले मेें 3 रनों से हराकर प्लेआॅफ में पहुंचने की उम्मीदें बरकरार रखी। टाॅस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई ने किरोन पोलार्ड के 22 गेंदों पर बनाए अर्धशतक की बदौलत आठ विकेट खोकर 187 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया। इसके जवाब में किंग्स इलेवन पंजाब ने राहुल (94) की 60 गेंद में 10 चौके और तीन छक्के वाली पारी और आरोन फिंच (46) के साथ दूसरे विकेट के लिए 12.2 ओवर में 111 रन की शतकीय साझेदारी के बावजूद निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट पर 183 रन ही बना सकी। इसी के साथ मुंबई अब 13 मैचों में छठी जीत से 12 अंक लेकर चौथे स्थान पर पहुंच गई और पंजाब 13 मैचों में 12 अंक से छठे स्थान पर खिसक गई है। हम आपको मुंबई की जीत वो 3 कारणों के बारे में बताएंगे जिससे वह पंजाब को हराने में कामयाब रही। 

1. किरोन पोलार्ड का अर्धशतक
मुंबई की शुरुआत अच्छी रही, लेकिन 9वें ओवर की दूसरी गेंद तक उन्होंने चार विकेट गंवा लिए थे। इसके बाद पोलार्ड आए और आते ही उन्होंने धमाकेदार अंदाज में बल्लेबाजी करनी शुरु कर दी, जिसके बाद पारी के 15वें ओवर तक टीम का स्कोर 151 हो गया। पोलार्ड की यही ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के कारण टीम का स्कोर चुनौतीपूर्ण हो गया। उन्होंने 5 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 23 गेंदों पर 50 रनों की शानदार पारी खेली। 

PunjabKesari

2. जसप्रीत बुमराह की शानदार गेंदबाजी
इस मैच में जिस तरह से जसप्रीत बुमराह ने गेंदबाजी की वह शानदार रही और खास तौर पर जब उन्होंने डैथ ओवरों में गेंदबाजी की। उन्होंने अपने एक ही ओवर की पहली और पांचवीं गेंद पर आरोन फिंच और मार्कस स्टोइनिस का विकेट लेकर पंजाब की स्थिती मुश्किल कर दी। उसके बाद उन्होंने फाॅर्म में चल रहे पंजाब के ओपनर केएल राहुल को कटिंग के हाथों आउट करवा कर पवेलियन लौटाया। बुमराह ने निर्धारित 4 ओवरों में 15 रन देकर 3 विकेट चटकाए, जो कि टीम के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हुआ।

PunjabKesari

3. क्रिस गेल का जल्द आउट होना
क्रिस गेल ने जिस तरह से टूर्नामेंट की शुरुआत की थी सभी उनकी तारीफ कर रहे थे। पिछले कुछ मैचों में गेल का बल्ला नहीं बोल रहा है। मुंबई के खिलाफ भी कुछ ऐसा ही हुआ। वह मात्र 11 गेंदों पर 18 रन बनाकर आउट हो गए। अगर वह इस मैच में अपने रुप से बल्लेबाजी करते तो शायद गेल इस मैच को जिताने में कामयाब रहते, लेकिन मुंबई के गेंदबाज मैक्कलेघन ने उन्हें जल्द ही बेन कटिंग के हाथों कैच आउट करवा दिया और यह विकेट मुंबई के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हुई।

PunjabKesari

.
.
.
.
.