Sports

नई दिल्लीः  विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को एक बार फिर से टीम का कप्तान बनाया गया। एशिया कप के सुपर 4 मुकाबले में अफगानिस्तान के खिलाफ धोनी ने रोहित शर्मा की जगह सिक्का हवा में उछाला। हालांकि, धोनी टाॅस हार गए आैर विरोधी टीम के कप्तान असगर अफगान ने पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया। मैच में कप्तान के रूप में उतरने के साथ ही 200 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में कप्तानी करने वाले पहले भारतीय बन गए।      

PunjabKesari

टॉस के समय रसेल आर्नोल्ड के सवाल का जवाब देते हुए धोनी ने कहा, "मैंने 199 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में कप्तानी की है, इसके साथ मैं 200वें अंतरराष्ट्रीय मैच में कप्तानी की। यह किस्मत है और मैंने हमेशा किस्मत पर यकीन किया है।" जब यह पूछा गया कि क्या उन्होंने कभी सोचा था कि वे 200 मैचों में कप्तानी कर पाएंगे तो धोनी ने कहा, "एक बार कप्तानी छोड़ने के बाद यह मेरे नियंत्रण में नहीं है।"   

PunjabKesari

धोनी ने जनवरी 2017 में छोड़ी थी कप्तानी
धोनी ने जनवरी 2017 में जब वनडे टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया तो उनके प्रशंसक अधिक हैरान नहीं थे। हालांकि, धोनी के पास भारत के लिए 200 एकदिवसीय मैचों में कप्तानी करने का मौका था। धोनी ने कभी अपने करियर में आंकड़ों को तरजीह नहीं दी। उन्होंने 90 टेस्ट खेलने के बाद खेल के लंबे प्रारूप को अलविदा कहा, जबकि वह 100 टेस्ट खेलने की उपलब्धि हासिल कर सकते थे।     

PunjabKesari

पोंटिंग से 5 मैच पीछे धोनी
अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैचों में धोनी से अधिक मैचों में कप्तानी ऑस्ट्रेलिया और आईसीसी के लिए रिकी पोंटिंग (230) और न्यूजीलैंड के लिए स्टीफन फ्लेमिंग (218) ने ही की है। धोनी की अगुआई में भारत ने 110 मैच जीते हैं और वह सर्वाधिक जीत के मामले में पोंटिंग (165) के बाद दूसरे स्थान पर हैं।      

.
.
.
.
.