Sports

एडीलेः आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क पहले दिन अपनी टीम के गेंदबाजी प्रयासों से संतुष्ट हैं लेकिन उन्हें मलाल है कि गुरुवार को यहां पहले क्रिकेट टेस्ट में टीम ने भारत को मुश्किल हालात से वापसी करने का मौका दे दिया। भारत ने 50वें ओवर में 127 रन तक छह विकेट गंवा दिए थे लेकिन चेतेश्वर पुजारा ने 246 गेंद में 123 रन पारी खेलकर दिन का खेल खत्म होने तक मेजबान टीम का स्कोर नौ विकेट पर 250 रन तक पहुंचाया।

स्टार्क (63 रन पर दो विकेट), पैट कमिंस (49 रन पर दो विकेट) और जोश हेजलवुड (52 रन पर दो विकेट) की तेज गेंदबाजी तिकड़ी के अलावा स्पिनर नाथन लियोन (83 रन पर दो विकेट) ने भी दो-दो विकेट चटकाए जिससे अच्छी बल्लेबाजी पिच पर भारत ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए। स्टार्क ने पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमने चार घंटे काफी अच्छी गेंदबाजी की, संभवत: एक घंटा और ऐसा किया और संभवत: अंत में थोड़ी गलती कर दी।’’

स्टार्क ने कहा, ‘‘चेतेश्वर पुजारा ने काफी समय तक बल्लेबाजी की। वह ऐसा खिलाड़ी है जिसे दबाव झेलना और लंबे समय तक खेलना पसंद है और उसे श्रेय जाता है कि आज उसने शानदार शतक जमाया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि अगर दिन की शुरुआत में आप हमारे से कहते कि हम टास हार जाएंगे और भारत स्टंप तक नौ विकेट पर 250 रन बनाएगा तो हमें खुशी होती।’’ इस 28 वर्षीय तेज गेंदबाज ने कहा कि यह अभी शुरुआती समय है और उन्हें जीत हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करने की जरूरत है।
Cheteshwar Pujara Image

उन्होंने कहा, ‘‘जब तक दोनों टीमें बल्लेबाजी नहीं कर लेती तब तक आप विकेट का आकलन नहीं कर सकते। एक अच्छे दिन से आप श्रृंखला नहीं जीत सके। टेस्ट जीतने में मदद में यह बड़ी भूमिका निभा सकता है लेकिन यह श्रृंखला जीतने के लिए कुछ भी नहीं है।’’ पुजारा दिन की अंतिम गेंद पर पैट कमिंस के सटीक निशाने का शिकार बने। इस रन आउट के संदर्भ में स्टार्क ने कहा, ‘‘यह उसके लिए विशेष लम्हा था, विशेषकर मैदान लंबा समय बिताने के बाद। यह उसकी ओर से अच्छा प्रयास था। ’’काफी गर्मी के बीच आस्ट्रेलिया ने मैदान पर पूरे दिन शानदार प्रदर्शन किया। इस दौरान उस्मान ख्वाजा ने भारतीय कप्तान विराट कोहली का बेहतरीन कैच भी लपका।




 

.
.
.
.
.