Sports

नई दिल्लीः भारत की सुपर मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने अपना विस्फोटक प्रदर्शन जारी रखते हुए उत्तर कोरिया की हियांग मी किम को गुरूवार को 5-0 से पीटकर आईबा विश्व महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता के 45-48 किग्रा लाइट फ्लाई वेट वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया।
mary com image  

सुपर मॉम मैरी ने यह मुकाबला 29-28, 30-27, 30-27, 30-27, 30-27 से जीता। मैरी का फाइनल में शनिवार को यूक्रेन की हाना ओखोता से मुकाबला होगा। पांच बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक पदक विजेता मैरी अब अपने रिकार्ड छठे स्वर्ण पदक से एक पंच दूर रह गयी हैं। विश्व मुक्केबाजी प्रतियोगिता की ब्रांड एंबेसेडर पहले ही अपना सातवां विश्व चैंपियनशिप पदक सुनिश्चित कर रिकार्ड बुक में जगह बना चुकी हैं।
 marycom image

मैरीकॉम अब स्वर्ण पदक मुकाबले में पहुंच गई हैं और यदि शनिवार को यह अपना छठा स्वर्ण पदक जीत लेती हैं तो आयरलैंड की कैटी टेलर के पांच विश्व खिताब के रिकार्ड को पीछे छोड़ देंगी। लेकिन फाइनल में पहुंचने के साथ ही उन्होंने अपना सातवां विश्व चैंपियनशिप पदक पक्का कर लिया और इस टूर्नामेंट की सबसे सफल मुक्केबाज बन गईं। खचाखच भरा इंदिरा गांधी स्टेडियम का केडी जाधव हॉल लगातार मैरी मैरी की आवाका से गूंजता रहा और इस दिग्गज मुक्केबाज ने अपने प्रशंसकों को नाराज नहीं किया। पांचों जजों ने सर्वसम्मति से मैरी के पक्ष में फैसला सुनाया और पांचों जजों के फैसले में इतना फासला था कि साबित होता है कि मैरी ने उत्तर कोरियाई मुक्केबाज पर किस कदर दबदबा बनाया था।
marycom image

हराने में कोई दिक्कत नहीं हुई

अपनी जीत के बाद बेहद खुश नकार आ रही मैरी ने कहा,‘‘ मैंने किम को पिछले साल वियतनाम में एशियाई चैंपियनशिप के फाइनल में भी हराया था और मुझे पूरा विश्वास था कि मैं इस बार भी उसे शिकस्त दूंगी। मैं उसके खेल को अच्छी तरह जानती थी इसलिये मुझे उसे हराने में कोई दिक्कत नहीं हुई। मैं हर बाउट को एक सीखने की प्रक्रिया के तौर पर लेती हूं और उसी हिसाब से मुकाबला लड़ती हूं।’’ फाइनल की अपनी प्रतिद्वंद्वी हाना के लिए मैरी ने कहा,‘‘ मैंने उसे पोलैंड में हराया था और एक बार फिर फाइनल जीतने के लिये तैयार हूं। देशवासियों ने मुझे इतना प्यार और समर्थन दिया है और मैं छठी बार विश्व खिताब जीतने में कोई कोर कसर नहीं छोडूंगी।’’ 
 


 

.
.
.
.
.