Sports

भुवनेश्वर : ओलिम्पिक कांस्य पदक विजेता कप्तान मनप्रीत सिंह और स्टार ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह की उत्साहवर्धक बातों ने यहां एफआईएच पुरुष जूनियर हॉकी विश्व कप के अपने शुरुआती मैच में फ्रांस के खिलाफ निराशाजनक हार के बाद गत चैंपियन भारतीय टीम के खिलाडिय़ों का मनोबल बढ़ाने में मदद की। गत चैम्पियन भारत को इस बार भी खिताब का दावेदार माना जा रहा है लेकिन टूर्नामेंट के पहले मैच में फ्रांस से 4-5 से हारने के बाद टीम ने कनाडा के खिलाफ शानदार वापसी की और 13-1 की बड़ी जीत दर्ज की। 

मनप्रीत ने कहा कि मैंने उन्हें सिर्फ खुद पर विश्वास करने और एक टीम के रूप में खेलने के लिए कहा था। उनमें संघर्ष की भावना बहुत अधिक है। मैंने सिर्फ उनके अपने खेल पर ध्यान देने का सुझाव दिया। हम उनसे लगातार बात कर रहे हैं। हरमनप्रीत ने कहा कि मैंने पहले मैच के बाद (कप्तान) विवेक (सागर प्रसाद) से बात की और उन्हें मैदान में आगे बढ़कर नेतृत्व करने की सलाह दी। मैंने उन्हें खिलाडिय़ों के बीच संचार में सुधार करने की सलाह दी, फ्रांस के खिलाफ इस मामले में कमी दिखी थी। एक टीम के रूप में जीत या हार का आनंद लेना महत्वपूर्ण है। 

Manpreet singh, Harmanpreet singh, junior hockey team, मनप्रीत सिंह, हरमनप्रीत सिंह, india vs france, hockey news in hindi, Sports news

मनप्रीत अगले महीने ढाका में होने वाली एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी में 20 सदस्यीय भारतीय सीनियर टीम का नेतृत्व करेंगे, जहां हरमनप्रीत टीम के उप कप्तान होंगे। भारत 14 से 22 दिसंबर तक होने वाले टूर्नामेंट में गत चैंपियन के रूप में जाएगा, क्योंकि उसने लगातार बारिश के कारण फाइनल के रद्द करने के बाद पाकिस्तान के साथ प्रतियोगिता के पिछले सत्र का खिताब साझा किया था। टोक्यो में कांस्य पदक जीतने के बाद भारतीय टीम का यह पहला टूर्नामेंट होगा।

मनप्रीत ने कहा कि हम एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के लिए बहुत अच्छी स्थिति में हैं। हम अपनी फिटनेस पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। ओलिम्पिक के बाद, हमारे फिटनेस स्तर में गिरावट आई थी। इसलिए, अब हम इसे फिर से हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं। हर कोई अपना शत प्रतिशत दे रहा है।

.
.
.
.
.