Sports

सोचीः रूस के कोच स्टैनिसलाव चेर्चेसोव ने क्वार्टरफाइनल में क्रोएशिया से पेनल्टी में मिली हार के बाद कहा कि भाग्य ने विश्व कप में हमारा साथ नहीं दिया। रूस का टूर्नामेंट में सफर शानदार रहा था। उसने अंतिम 16 में स्पेन को शूटआउट में हराकर बाहर किया था लेकिन वह क्रोएशिया के खिलाफ क्वार्टरफाइनल में अतिरिक्त समय में 2-2 की बराबरी के बाद शूटआउट में 3-4 से हार गया।         
  
PunjabKesari

चेर्चेसोव ने कहा, ‘‘भाग्य हमारे साथ नहीं था जिस कारण खिताब जीतने का सपना अधूरा रह गया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरे खिलाडिय़ों को ऐसा लग रहा है कि जैसे वे जंग की तैयारी कर रहे थे लेकिन उससे पहले ही उनकी सेवा खत्म कर दी गयी।’’ चेर्चेसोव ने कहा, ‘‘वे अब भी युद्ध में लडऩा चाहते थे।’’ रूस के हारने के बाद चेर्चेसोव काफी निराश होकर कमरे में चले गये। उन्होंने पत्रकार से पहला सवाल दोहराने को भी कहा और लंबे विराम के बाद कहा, ‘‘मैं अब भी उबर नहीं सका हूं।’’

PunjabKesari

टूर्नामेंट की सबसे निचली रैंकिंग वाली टीम रूस से ज्यादा उम्मीदें नहीं थीं लेकिन अपने प्रदर्शन से उसने सभी को हैरान कर क्वार्टरफाइनल तक का सफर तय किया। चेर्चेसोव ने कहा, ‘‘लोगों ने ना केवल हम पर भरोसा करना शुरू कर दिया है बल्कि अब पूरा देश हमें प्यार करता है।’’ 

.
.
.
.
.