Sports

नई दिल्ली: बॉल टेम्परिंग के मामले में दोषी पाए जाने के बाद डैरेन लैहमन को आस्ट्रेलिया टीम का मुख्या कोच की भूमिका से हटा दिया गया था। लैहमन ने एक बार फिर से टीम का कोच बनने का दावा पेश किया है। लैहमन ने फिर से कोचिंग की दुनिया में वापस लौटने की इच्छा जताई है। एक अख़बार ने लैहमन के हवाले से लिखा, लैहमन तकरीबन पांच साल तक आॅस्ट्रेलियाई टीम के मुख्य कोच रहे और उन्हीं के मार्गदर्शन में टीम ने 2015 में वनडे विश्व कप का खिताब जीता था।
लैहमन मानते हैं खुद को एक बेहतर कोच 
PunjabKesari
सूत्र के हवाले से बताया हैं, कि लैहमन एक बार फिर कोचिंग करना चाहता है। मुझे लगता है कि मैं अच्छा कोच हूं। मेरा कोचिंग रिकॉर्ड काफी बेहतर है। एक समय मैं वहां जाना चाहूंगा। एक छोटा करार शायद सही होगा। मैं इसी की जांच में हूं।' उन्होंने यह साफ कर दिया है वह इस ग्रीष्मकाल में कोचिंग से दूर रहेंगे और इसके बाद इस बारे में सोचेंगे। इस दौरान में क्रिकेट देखूंगा और इसका लुत्फ उठाऊंगा। अगले साल देखते हैं कि क्या होता है।'
PunjabKesari
लैहमन 2013 में टीम के कोच बने थे, जब मिकी ऑर्थर को बर्खास्त किया गया था। लैहमन के कोच रहते ही आस्ट्रेलियाई टीम ने 2013-14 और 2017-18 एशेज सीरीज में जीत हासिल की थी। लेकिन 22 मार्च 2018 को अफ्रीका के खिलाफ खेले गए तीसरे टेस्ट में कोच लैहमन, स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर मैच फिक्सिंग के अारोप लगाए गए थे । इसके बाद ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड ने डैरेन लैहमन को कोच के पद से हटा दिया था। विवाद के बाद लैहमन की भी काफी आलोचना हुई थी, लेकिन 'सीए' ने अपनी जांच में उन्हें बेकसूर पाया था।