Sports

पोंटे वेड्रा बीच (फ्लोरिडा) : भारतीय गोल्फर अनिर्बान लाहिड़ी को इस सप्ताह शुरू हो रहे प्लेयर्स चैम्पियनशिप में एक साथ कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा क्योंकि पिछले चार साल में उनपर पहली बार रैंकिंग में शीर्ष 100 से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा है। लाहिड़ी ने आखिरी बार फरवरी 2015 में हीरो इंडियन ओपन में जीत दर्ज की थी और इस साल एक भी टूूर्नामेंट में शीर्ष 10 में नहीं रहे हैं।

लाहिड़ी को खराब फार्म के बाद भी लगता है कि वह गेंद को ठीक से हिट कर रहे हैं फिर भी स्कोर नहीं कर पा रहे। वह इस चैम्पियनशिप में अपने प्रदर्शन में सुधार लाना चाहेंगे। उन्होंने कहा- मैं इस सप्ताह चैम्पियनशिप शुरू होने का इंतजार कर रहा हूं। मुझे लगता है कुछ कमजोरियों से पार पाना होगा। पिछले साल मैं अच्छा खेला था। लाहिड़ी ने कहा- मैं इस कोर्स पर अच्छा खेल सकता हूं, यह अच्छा है और मैं पहले भी यहां खेला हूं। मुझे पता है क्या करना है, मैं जानता हूं कि हालात कैसे होंगे। यह ऐसा सप्ताह है जहां मैं अपनी तैयारियों से संतुष्ठ हूं।

प्लेयर्स चैम्पियनशिप को मेजर के बाद सबसे बड़ा टूर्नामेंट माना जाता है जिसकी इनामी रकम 1.1 करोड डालर है। इस टूर्नामेंट में विश्व रैंकिंग में शीर्ष 50 तक काबिज हर गोल्फर भाग ले रहा है जिसमें रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज डस्टिन जानसन के अलावा जस्टिन थामस, जैसन डे, टाइगर वुड्स , रोरे मैक्लरॉय और गत चैम्पियन सी वू किम शामिल हैं।