Sports

नई दिल्ली : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड दौरे के लिए अपनी तैयारियों के संबंध में सारे विकल्प खुले रखे हैं और अगर जरूरत पड़ी तो वह वोरेस्टर में इंग्लैंड लायंस के खिलाफ भारत ए टीम का चार दिवसीय टेस्ट में भी खेल सकते हैं। भारत के आयरलैंड के खिलाफ दो टी-20 मैचों (27 और 29 जून) की तारीख को लेकर कुछ संदेह बना हुआ है जो कोहली के सरे के लिए स्कारबोरो में यार्कशर के खिलाफ (25 से 28 जून तक) के साथ ही पड़ेगा। लेकिन पता चला है कि कप्तान ने ऐसी स्थिति से निपटने के लिए सुपरहिट फार्मूला निकाला है। और वह यह है कि कोहली अपनी काउंटी की प्रतिबद्धता पूरी कर स्कारबोरो से पांच घंटे की हवाई यात्रा कर दूसरा टी-20 खेलने के लिए डबलिन पहुंच सकते हैं। ऐसी भी संभावना है कि वह यार्कशर के खिलाफ मैच छोड़ सकते हैं और आयरलैंड के खिलाफ दोनों मैच खेल सकते हैं।

बीसीसीआई के वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा- अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। सरे के साथ ऐसी व्यवस्था है, जिसमें विराट राष्ट्रीय प्रतिबद्धता पूरी कर सकते हैं। इसलिए अगर उन्हें पहले दो मैचों में खेलने का काफी समय मिल जाता है तो वह शायद यार्कशर के खिलाफ मैच को छोड़कर दोनों टी-20 मैच खेल सकते हैं। लेकिन इंग्लैंड के मौसम की कोई गारंटी नहीं है। उन्होंने कहा- अगर मौसम ने पहले दो मैचों (हैम्पशर और समरसेट) में खलल डाली तो निश्चित रूप से वह यार्कशर के खिलाफ खेलेंगे।

चार दिवसीय मैच खेलना अहम है तो बीसीसीआई इस बात की भी अनदेखी नहीं करना चाता कि टेस्ट सीरीज से पहले प्रथम श्रेणी क्रिकेट में ज्यादा खेलने से उनके शरीर पर असर पड़ सकता है क्योंकि इससे पहले सीमित ओवर की दो सीरीज हैं। बीसीसीआई इंग्लैंड एंव वेल्स क्रिकेट बोर्ड से भारत ए और इंग्लैंड लायंस के बीच वोरेस्टर में होने वाले एकमात्र टेस्ट की तारीख को बढ़ाने का अनुरोध भी कर सकता है।

अभी भारत ए का लायंस के खिलाफ चार दिवसीय मैच 16 जुलाई से शुरू होगा और भारतीय सीनियर टीम 17 जुलाई को इंग्लैंड के खिलाफ हेङ्क्षडग्ले में अपना अंतिम वनडे खेलेगी। यह भी संभावना है कि बीसीसीआई ईसीबी से लांयस का मैच 19 जुलाई को शुरू करने को कहे जिसेस विराट को और हो सकता है लोकेश राहुल को टेस्ट मैच की लय में आने का समय मिल जाए।