IPL 2019
Sports

नई दिल्लीः भले ही राॅयल चैलेंजर्स बेंगलुरु आईपीएल टूर्नामेंट के 31वें मुकाबले में मुंबई इंडियंस को हरा दिया हो लेकिन बावजूद इसके फैंस बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली से निराश दिखे, क्योंकि कोहली अपनी बल्लेबाजी के दौरान आउट थे। इसके बाद लोगों ने सोशल मीडिया पर कोहली को खरीखोटी सुनाई और उन पर चीटिंग का आरोप लगा दिया। लोग कह रहे हैं कि कोहली ने अपनी टीम को जीत दिलवाने के लिए चीटिंग की थी।

ऐसा था मामला
दरअसल, पहले बल्लेबाजी करने उतरी बेंलगुरु के कप्तान कोहली 14वें ओवर के दौरान मैदान पर थे। उस वक्त कोहली का स्कोर 24 था। गेंदबाजी जसप्रीत बुमराह कर रहे थे। इस ओवर की एक गेंद पर विराट कोहली आउट हो सकते थे, लेकिन किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। बुमराह की एक गेंद कोहली के बल्ले से लगकर विकेट कीपर के हाथ में गई थी, लेकिन मैदान में मौजूद किसी भी क्रिकेटर को इस बारे में पता नहीं चला कि गेंद कोहली के बल्ले से टकराई थी। न तो गेंदबाज को आवाज सुनाई दी, न विकेट कीपर को और न ही अंपायर को इस बात का पता चला। बल्ले से गेंद टकराने के बारे में उस वक्त पता चला जब अगली बॉल के वक्त रिप्ले देखा गया। रिप्ले में यह सामने आया कि कोहली पिछली गेंद पर आउट थे। रिप्ले में दिखा कि गेंद ने कोहली के बल्ले का किनारा टच किया था।

कोहली की इस हरकत को देखकर एक फैन ने लिखा, ''विराट कोहली कैसे चीटिंग कर सकते हैं। बस इस वजह से वह सचिन जैसे नहीं बन सकते क्योंकि सचिन के लिए आउट का मतलब आउट था। कोई चीटिंग नहीं अंपायर के आउट देने का इंतजार कभी नहीं करते थे। यह दिखाता है एक साधारण और असाधारण खिलाड़ी का चरित्र।''
 


''कोहली को खेलते देखना बहुत प्यारा लगता है। अपने ही काम से वो चीटिंग कर रहे हैं यह बेहद बुरा है।''
 


''महेंद्र सिंह धोनी तो अंपायर के फैसले का इंतजार भी नहीं करते हैं  अगर उनके बल्ले का किनारा गेंद से लगता है। विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के बीच यह अंतर है।''

 

 

.
.
.
.
.