Sports

चेन्नई : अपने धारधार बयानों के लिए मशहूर भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सैयद किरमानी ने विराट कोहली की क्षमता और प्रतिभा पर फिर से अपनी प्रतिक्रिया दी हैं। उन्होंने साऊथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज गंवाने पर कहा कि कोहली को हालात से सामंजस्य बैठाने में समय लग गया। इसका भारत टेस्ट सीरीज में साऊथ अफ्रीका को टक्कर नहीं दे पाया। हालांकि किरमानी ने टेस्ट के बाद वनडे सीरीज में मिली जोरदार जीत पर कहा कि विराट कोहली की अगुआई वाली टीम ने अपनी असली क्षमता और प्रतिभा एकदिवसीय श्रृंखला में दिखाई है। किरमानी ने कहा- टीम ने शानदार वापसी करते हुए अपनी असली क्षमता और प्रतिभा दिखाई तथा वनडे सीरीज जीती। टेस्ट श्रृंखला 1-2 से गंवाने के बाद जोरदार वापसी करते हुए भारतीय टीम ने 6 मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला 5-1 से जीती।

धोनी की आलोचना करना ठीक नहीं
PunjabKesari
किरमानी ने उन लोगों को भी करारा जवाब दिया जो धोनी की कीपिंग तकनीक को लेकर सवाल उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि धोनी की आलोचना करना ठीक नहीं है क्योंकि उन्होंने नतीजे दिए हैं जो अधिक महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा- यह सब नतीजों का खेल है। जो विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी के लिए धोनी की आलोचना कर रहे हैं उन्हें पता नहीं है कि उसने हर जगह नतीजे दिए हैं।

कई बार नतीजे देखे जाते हैं, तकनीक नही
किरमानी ने कहा- आजकल हर जगह नतीजे देखे जाते हैं, तकनीक नहीं।’’ किरमानी ने धोनी के प्रदर्शन के अलावा उनकी कप्तानी की भी तारीफ की। उन्होंने कहा- वह खेल के तीनों प्रारूपों में टीम को शीर्ष पर ले गया और मोर्चे से अगुआई की। वह देश का शानदार दूत रहा और उसमें महान नेतृत्वकर्ता की सभी क्षमताएं थी। तो फिर उसकी तकनीक के बारे में बात क्यों करें, जब उसने नतीजे दिए हैं।’’ पूर्व भारतीय विकेटकीपर किरमानी ने कहा कि विशेषज्ञ विकेटकीपर आधुनिक क्रिकेट में प्रासंगिक नहीं है विशेषकर सीमित ओवरों के प्रारूप में।

.
.
.
.
.