Sports

जालन्धर : आईपीएल-11 का ड्वेन ब्रावो ने आतिशी पारी खेलकर जैसे आगाज किया। उसे अगले ही मैच में अंजाम तक पहुंचाने का काम किया है पंजाब किंग्स इलैवन के बल्लेबाज केएल राहुल ने। दिल्ली डेयरडेविलस के साथ मोहली के क्रिकेट स्टेडियम में लगे मैच दौरान राहुल ने दिल्ली के बॉलरों को जमकर धोया। 

खास तौर पर उन्होंने आईपीएल में दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बॉलर अमित मिश्रा को एक ओवर में 24 रन ठोक दिए। ऐसा कर दो खास रिकॉर्ड अपने अपने नाम कर लिए। एक- आईपीएल की सबसे तेज फिफ्टी लगाना। दूसरा- पंजाब की टीम जब तीन ओवर में 52 रन बना चुकी थी तो उसमें से 51 रन केवल राहुल के ही नाम थे। राहुल के साथ ओपनिंग करने आए मयंक अग्रवाल मात्र एक रन ही बना पाए थे। राहुल ने पचास रन मात्र 14 गेंदों में बनाए।

बता दें कि आईपीएल में सबसे तेज फिफ्टी मारने का रिकॉर्ड इससे पहले युसूफ पठान के नाम था। पठान ने हैदराबाद के खिलाफ 2014 में कोलकाता के मैदान में खेले गए मैच दौरान महज 15 गेंद पर फिफ्टी बनाई थी। इसके बाद सुनील नेरेन (15 गेंद), सुरेश रैना (16 गेंद) का नाम आता है।

सोशल मीडिया पर हुई जमकर तारीफ
राहुल की इस पारी के बाद सोशल साइट्स पर उनकी जमकर तारीफ हुई। कइयों ने लिखा कि राहुल ने श्रीलंका के दिग्गज बल्लेबाज सनथ जयसूर्या की याद दिला दी। जयसूर्या ने 1996 में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए एक मैच दौरान अपने पार्टनर रमेश कालूविर्ताना के साथ पारी की शुरुआती की थी। रंग में आए जयसूर्या ने तब केवल 28 गेंद में 76 रन ठोंक दिए थे। 

जयसूर्या ने खेली थी ऐसी पारी
जयसूर्या इतने हावी थे कि श्रीलंका का जब पहला विकेट कालूविर्ताना के रूप में 70 पर गिरा तो जयसूर्या 70 रन अकेले ही बनाकर खेल रहे थे। कालूविर्ताना को उन्होंने खाता भी खोलने नहीं दिया था। इसी मैच में तब जयसूर्या ने वनडे में सबसे तेज फिफ्टी (17 गेंद) मारने का रिकॉर्ड भी बनाया था।

ओवरऑल चौथे नंबर पर पहुंचे राहुल
टी-20 क्रिकेट में ओवरऑल प्रदर्शन की बात करें तो राहुल शर्मा मात्र 14 गेंद में पचासा लगाकर तीसरे सबसे तेज फिफ्टी लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। सबसे तेज पचास रन बनाने का रिकॉर्ड युवराज सिंह और क्रिस गेल के नाम है। युवराज ने 2007 में इंगलैंड के खिलाफ तो क्रिस गेल ने एडिलेड के खिलाफ महज 12 गेंद में पचास रन बनाए थे। इसके बाद मार्क टै्रसकोथिक का नाम आता है जिन्होंने महज 13 गेंद में हैम्पशायर के खिलाफ पचास रन बनाए थे।

.
.
.
.
.