Latest News

पटना , बिहार ( निकलेश जैन ): अपने अंतिम पड़ाव पर आ चुकी खादी इंडिया नेशनल प्रीमियर शतरंज चैंपियनशिप 2017  में  आज 11 वे राउंड के बाद भी यह कहना बहुत मुश्किल है की खिताब का दावेदार कौन होगा । आज खेल गए मुकाबलो मे 4 मैच ड्रॉ रहे जबकि तीन मैच का परिणाम जीत और हार के तौर पर सामने आया और आज हम उन खिलाड़ियों की बात करते है जो इस दौड़ मे सबसे आगे है ! 

रोहित ललित बाबू और दीपन चक्रवर्ती के बीच खेला गया मुक़ाबला ड्रॉ रहा । ललित की पसंदीदा ओपनिंग केटलन में हुए इस मुक़ाबले में दीपन नें आज शुरुआत से ही ललित पर दबाव बनाए रखा और दीपन के मोहरो की शानदार स्थिति नें कभी भी ललित को खेल में कोई मौका नहीं दिया । लेकिन खेल की 30 चाल के बाद जब दीपन अपने वजीर और हाथी की स्थिति में थोड़ा और बदलाव करते हुए उन्हे खेल में और बेहतर कर सकते थे वह ऐसा नहीं कर सके और इससे ललित को सम्हलने का मौका मिल गया । खेल की 34 वी चाल में उन्होने बोर्ड के केंद्र का दीपन का एक प्यादा मार लिया इसके बाद मोहरो की लगातार अदला बदली के बीच बोर्ड पर ललित के पास 5 प्यादे ,वजीर और घोडा था था दीपन के पास भी यही मोहरे बस एक प्यादा कम था वैसे तो ललित अब यहाँ से जीत के लिए ज़ोर लगा सकते थे पर उन्होने सुरक्षित खेलते हुए 56 चालों में मैच को ड्रॉ करना बेहतर समझा । इस परिणाम से रोहित जहां 7.5 अंको पर आ गए और सबसे आगे बने हुए है तो दीपन 6 अंको पर और तकनीकी तौर पर अब दीपन की पकड़ से खिताब दूर नजर आता है । 

खैर दूसरी जीत दर्ज की अरविंद चितांबरम नें आज श्याम निखिल के उपर जीत से उन्होने अपने खिताब जीतने की संभावना बनाए रखी है आज श्याम निखिल नें रेटी ओपनिंग में शुरुआत से अरविंद के राजा के तरफ और बोर्ड के केंद्र से अच्छा खेल दिखाते हुए बढ़त बना ली थी पर अरविंद नें लगातार अपने मोहरो की स्थिति बदलते हुए अच्छा बचाव किया और वही श्याम निखिल लगातार अच्छी चालों से चूक रहे थे और अपनी बढ़त का सही उपयोग नहीं कर पा रहे थे और उनके मोहरो के बीच तालमेल के अभाव को समझते हुए अरविंद नें लगातार अपने मोहरो की स्थिति को सुधारना जारी रखा । खेल की 38वी चाल में जब खेल लगभग बराबरी की स्थिति में था श्याम निखिल की एक बड़ी गलती में अपने वजीर को गंवा दिया और 40 चाल में उन्होने हार स्वीकार कर ली । इस जीत से अरविंद भी 7.5 अंको पर पहुँच गए पर फिलहाल वह टाईब्रेक में ललित के ठीक पीछे है और खिताब की दौड़ में शामिल है ।

एक और मैच में हिमांशु शर्मा का बुरा वक्त उनका साथ ही नहीं छोड़ रहा है और वह बोर्ड पर निस्तेज नजर आ रहे है और आज अनुभवी अभिजीत कुंटे नें उनकी खराब लय को पूरा फायदा उठाते हुए उन्हे पराजित कर दिया । एक बर्ष के अंतराल में भी 7 मैच नहीं हारने वाले हिमांशु नेशनल चैंपियनशिप में अब तक 11 में से 7 हार और 4 ड्रॉ खेल सके है और अब तक एक भी मैच नहीं जीत सके है । 

एक और परिणाम देबाशीष और लक्ष्मण के मैच में से आया और अक अच्छी स्थिति के बाद भी गलत चालों से लक्ष्मण यह मैच हार गए । अन्य मैच में सुनील नारायण नें स्वप्निल धोपाड़े से ,एस नितिन नें सम्मेद शेटे से ,और अर्घ्यदीप दास नें मुरली कार्तिकेयन से ड्रॉ खेला । 

कौन होगा विजेता !- अभी सबसे आगे चल रहे है ललित और अरविंद और दोनों  7.5 अंक पर है चूंकि अरविंद ललित से हारे है ललित उनसे आगे है । लेकिन जहां ललित को अगले दो राउंड में  सुनील (6.5) और स्वप्निल (5) से मुक़ाबला खेलना है तो अरविंद को खराब लय में चल रहे हिमांशु (2) और देबाशीष दास ( 6) से मुक़ाबला खेलना है ऐसे में अरविंद का रास्ता थोड़ा आसान नजर आता है । तीसरे स्थान पर सुनील ,मुरली और अर्घ्यदीप दास 6.5 अंक बनाकर खेल रहे है और ऐसे में इनमे से भी सुनील ललित को पराजित कर सबको चौंका सकते है , तो मुरली और अर्घ्यदीप दास भी कुछ भी कमाल कर सकते है , कुल मिलाकर विजेता इन पाँच में से ही होगा यह तो नजर आता है पर कौन होगा यह तो वक्त ही बताएगा 

.
.
.
.
.