IPL 2019
Sports

जालन्धर : भारतीय टीम इंगलैंड से पांच टैस्ट मैचों की सीरीज में 3-1 से पिछड़ चुकी है। साउथहैम्पटन में खेले गए चौथे टैस्ट के दौरान भारतीय टीम 245 रन का टारगेट भी हासिल नहीं कर पाई। लिहाजा पूरी टीम 184 रन पर सिमटकर 60 रन से मैच गंवा बैठी। वहीं, टीम इंडिया के पिछले सात सालों में टैस्ट सीरीज में हार की हैट्रिक बनाने पर पूर्व दिग्गज ऑलराऊंडर कपिल देव के आंसू निकल आए। आर्मी के एक कार्यक्रम में शिकरत कर रहेे कपिल देव ने कहा कि भारतीय टीम अपनी गलतियों से सीख नहीं रही है। इसी कारण उन्हें नामोशी का सामना करना पड़ रहा है।

 PunjabKesari
कपिल ने कहा कि इंडिया इंगलैंड को कई बार मैच में वापसी करने के मौके देती दिखी। टीम इंडिया को अपनी गलतियों से ही सीखना होगा। इस सीरीज में भारत कई बार अच्छी पोजीशन में पहुंचा लेकिन बार-बार गलतियां दोहराने के चलते वह इंगलैंड को मैच दे बैठा।

PunjabKesari

कपिल ने भारतीय टीम की विराट कोहली पर निर्भरता के सवालों को नकारते हुए कहा कि मैच टीम एफर्ट से जीते जाते हैं। हां, एक बार यह जरूरी होता है कि आपका इन फॉर्म बल्लेबाज रन बना रहा या विकेट ले रहा है कि नहीं। उन्होंने कहना है कि जब आपका कप्तान रन बनाता है तो आप मोटिवेट होते हो ज्यादा से ज्यादा रन बनाने के लिए। लेकिन वहीं कप्तान जब अकेला ही जूझता रहे तो हालात और भी मुश्किल हो जाते हैं। 

PunjabKesari

कोहली को टैस्ट सीरीज का बैठकर मंथन करना चाहिए। उनसे क्या गलतियां हुईं। सीरीज में 2-0 पिछडऩे के बाद भारत ने नॉटिंघम टैस्ट में शानदार खेल दिखाकर सीरीज में 2-1 से बराबरी की थी। आखिर चौथे टैस्ट में भारत ने ऐसी कौन-सी गलतियां कीं जिससे उनके हाथ से मैच निकल गया। साथ ही साथ नॉटिंघम टैस्ट में जिन गलतियों पर रोक लगाकर जीत हासिल की, पर भी मंथन करना चाहिए। 

.
.
.
.
.