Sports

जालन्धर : यह आईपीएल सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खास रहा हो या न हो/चाहे ही अंत में सुखद अहसान नहीं देकर गया लेकिन हैदराबाद के कप्तान केन विलियम्सन के लिए यह कभी न भूलने वाला साबित होगा। विलियम्सन को जब कप्तानी सौंपी गई थी तब हैदराबाद टीम का मनोबल लगभग टूटा हुआ था। क्योंकि हैदराबाद का स्टार खिलाड़ी डेविड वार्नर बॉल टेंपरिंग के बाद एक साल तक क्रिकेट खेलने के लिए बैन हो गया था। ऐसे समय में विलियम्सन ने सनराइजर्स हैदराबाद प्रबंधन द्वारा दी गई जिम्मेदारी बाखूबी निभाते हुए टीम को न सिर्फ फाइनल तक पहुंचाया बल्कि खूब इज्जत भी बटोरीं। उन्हें इस सीजन का लीजैंड भी कहा जा सकता है।
PunjabKesari
आईपीएल-11 के इस सीजन में विलियम्सन ने सबसे ज्यादा स्कोर बनाने, सबसे ज्यादा फिफ्टी लगाने, चार लगातार पचासे लगाने के अनमोल रिकॉर्ड अपने नाम किए। वह आईपीएल हिस्ट्री के ऐसे तीसरे बल्लेबाज बन गए हैं जिन्होंने एक ही सीजन में सात सौ से ज्यादा रन बनाए। इस रिकॉर्ड में विलियम्सन से आगे अब सिर्फ विराट कोहली (973 रन) और डेविड वार्नर (848 रन) ही रह गए हैं। विलियम्सन ने न सिर्फ यह रिकॉर्ड बनाए बल्कि साथ ही साथ ट्वंटी-20 क्रिकेट के मिथक भी तोड़ दिए। दरअसल सीजन में 735 रन बनाने वाले विलियम्सन ने इनमें से आधे रन दौड़कर बनाए हैं। यह आंकड़ें जरूर चौंकाते हैं लेकिन है 100 फीसदी सच। 
PunjabKesari
विलियम्सन ने पूरे टूर्नामैंट के दौरान 516 गेंदें खेलीं हैं- इसमें 230 सिंगल, 38 डबल, 2 ट्रिपल और एक बार भागकर चार रन शामिल हैं। विलियम्सन ने इस दौरान 64 चौके, 28 छक्के लगाए। करीब 154 गेंदें उन्होंने डॉट खेलीं। इससे उनकी डॉट गेंदें खेलने की औसत लगभग 30 हो गई है। जबकि एक से लेकर तीन रन की औसत लगभग 53, चौकों-छक्कों से विलियम्सन ने सिर्फ 18 प्रतिशत रन ही बनाए हैं। बता दें कि विलियम्सन के नाम पर इस साल के ओरेंज कैप भी हो गई है। 

टीम के कुल टोटल में दिया लगभग 21 फीसदी रनों का योगदान
केन विलियम्सन ने सीजन में 735 रन बनाए। यह हैदराबाद की ओर से पूरे टूर्नामैंट में बनाए गए रनों का करीब 21 फीसदी बनता है। इस खास लिस्ट में दिल्ली डेयरडेविल्स के ऋषभ पंत सबसे ऊपर हैं उन्होंने अपनी टीम के कुल स्कोर में 31.86 रनों का योगदान दिया। इसके बाद केएल राहुल 26.98 फीसदी रनों के साथ बने हुए हैं। जोस बटलर 24.95 और एबी डीविलियर्स भी अपनी टीम के लिए 24.78 रन बना चुके हैं। विलियम्सन अब इस लिस्ट में पांचवें स्थान पर आ गए हैं।

.
.
.
.
.