Sports

नई दिल्ली : विश्व कप अब जबकि अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच गया है तब इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन गोल्डन बूट की दौड़ में सबसे आगे बने हुए हैं लेकिन बेल्जियम के रोमेलु लुकाकु अगले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन करके यह प्रतिष्ठित पुरस्कार हासिल कर सकते हैं। विश्व कप में सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी को गोल्डन बूट का पुरस्कार मिलता है। हैरी केन ने अब तक छह गोल किए हैं जबकि उनके करीबी प्रतिद्वंद्वी लुकाकु के नाम पर चार गोल दर्ज हैं। इन दोनों खिलाडिय़ों को अब 2-2 मैच खेलने को मिलेंगे और ऐसे में सेमीफाइनल के दौरान टीमों के प्रदर्शन के अलावा केन और लुकाकु पर भी निगाह लगी रहेगी।
PunjabKesari
लुकाकु के अलावा रूस के डेनिस चेरिसेव और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने भी विश्व कप 2018 में 4-4 गोल किए लेकिन उनकी टीमें खिताब की दौड़ से बाहर हो चुकी हैं। इनके अलावा छह खिलाडिय़ों ने 3-3 गोल किए हैं। इनमें फ्रांस के काइलियान मबापे और एंटोनी ग्रीजमैन भी शामिल हैं। फ्रांस जब दस जुलाई को पहले सेमीफाइनल में बेल्जियम से भिड़ेगा तो लुकाकु के अलावा इन दोनों फुटबालरों का गोल उन्हें गोल्डन बूट के करीब ले जा सकता है। जिन अन्य खिलाडिय़ों के नाम पर 3-3 गोल दर्ज हैं उनमें रूस के आर्टम दिजुबा, उरूग्वे के एडिनसन कवानी, स्पेन के डिएगो कोस्टा और कोलंबिया के येरी मिना शामिल हैं। ये सभी टीमें विश्व कप से विदा हो चुकी हैं। 

फिलहाल केन का दावा गोल्डन बूट पर सबसे मजबूत है। इंग्लैंड 11 जुलाई को क्रोएशिया के खिलाफ दूसरा सेमीफाइनल खेलेगा और केन इस मैच में स्कोर करके अपने करीबी प्रतिद्वंद्वियों से गोल अंतर बढ़ाना चाहेंगे। अगर केन गोल्डन बूट हासिल करते हैं तो यह दूसरा अवसर होगा जबकि इंग्लैंड का कोई खिलाड़ी यह पुरस्कार पाएगा। उनसे पहले 1986 में मैक्सिको में खेले गये विश्व कप में गैरी लिनाकर ने सर्वाधिक छह गोल करके गोल्डन बूट (तब गोल्डन शू) हासिल किया था।
PunjabKesari
बेल्जियम के किसी भी खिलाड़ी ने अभी तक गोल्डन बूट हासिल नहीं किया है और अगर लुकाकु यह सम्मान हासिल करते हैं तो वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले अपने देश के पहले खिलाड़ी होंगे। जहां तक फ्रांस का सवाल है तो उसके दिग्गज फुटबालर जस्ट फोंटेन ने 1958 स्वीडन विश्व कप में 13 गोल करके नया रिकार्ड बनाकर गोल्डन बूट हासिल किया था। किसी एक विश्व कप में सर्वाधिक गोल करने का यह अब भी रिकार्ड है।

.
.
.
.
.