Sports

बेंगलुरु : युवा सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल की 100 रन की पारी से मुंबई ने रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल में मंगलवार को पहले दिन का खेल खत्म होने तक 5 विकेट पर 260 रन बना लिए। जायसवाल ने 227 गेंद की पारी में 15 चौके जड़े। उन्होंने इस दौरान 3 अर्धशतकीय साझेदारियां की। उन्होंने सुवेद पारकर (32) के साथ तीसरे विकेट के लिए 63, शानदार लय में चल रहे सरफराज खान (40) के साथ चौथे विकेट के लिए 83 और विकेटकीपर हार्दिक तामोरे (नाबाद 51) के साथ पांचवें विकेट के लिए 63 रन की साझेदारियां निभाकर टीम को बेहतर स्थिति में पहुंचाया।

 उत्तर प्रदेश के कप्तान करण शर्मा ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया जिसे तेज गेंदबाज यश दयाल (35 रन पर दो विकेट) ने मुंबई के कप्तान पृथ्वी साव को खाता खोले बगैर पवेलियन भेजकर सही साबित किया। शिवम मावी (29 रन पर एक विकेट) ने इसके बाद पारी के 15वें ओवर में अरमान जाफर (10 रन) को आउट कर उत्तर प्रदेश को दूसरी सफलता दिलाई।

पिछले मैच में पदार्पण पर दोहरा शतक जडऩे वाले पारकर एक बार फिर बड़ी पारी खेलने की ओर बढ़ रहे थे लेकिन दयाल ने उन्हें सौरव कुमार के हाथों कैच कराकर उनकी 98 गेंद की पारी का अंत किया। जायसवाल दूसरे छोर से संभल कर बल्लेबाजी कर रहे थे और उन्होंने अपनी पारी की 150वें गेंद पर एक रन लेकर अर्धशतक पूरा किया। सरफराज खान ने 52 गेंद की पारी के दौरान पांच चौके जड़े और टीम की रन गति को तेज किया। वह हालांकि करण शर्मा (39 रन पर दो विकेट) के खिलाफ रिवर्स स्वीप लगाने के चक्कर में अपना विकेट गंवा बैठे। 

जायसवाल को इसके बाद तामोरे का अच्छा साथ मिला और दोनों ने उत्तर प्रदेश के गेंदबाजों को ज्यादा मौके नहीं दिए। जायसवाल ने पारी की 226वीं गेंद पर प्रथम श्रेणी क्रिकेट का अपना दूसरा शतक पूरा किया। वह हालांकि करण शर्मा की अगली ही गेंद पर विकेटकीपर को कैच थमा दिया। दिन का खेल खत्म होते समय तामोरे के साथ शम्स मुलानी 10 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे।

.
.
.
.
.