Sports

पुणे: अपने घरेलू मैदान पर अब तक अच्छा रिकार्ड नहीं रखने वाली एफसी पुणे सिटी ने हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) सेमीफाइनल के पहले चरण में बेंगलुरू एफसी की मजबूत टीम को गोलरहित बराबरी पर रोककर दूसरे चरण के मैच में निर्णायक बना दिया। पुणे ने इस सत्र में लीग चरण में अपने घरेलू मैदान पर पांच मैच गंवाए लेकिन अब बेंगलुरू को बराबरी पर रोककर उसने मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल की है। दोनों टीमों के बीचसेमीफाइनल के दूसरे चरण का मुकाबला अब 11 मार्च को बेंगलुरू एफसी के घरेलू मैदान श्री कांतिरावा स्टेडियम में खेला जाएगा।
इससे पहले दस मार्च को गोवा में दूसरे सेमीफाइनल के पहले चरण में एफसी गोवा और चेन्नईयिन एफसी के बीच मैच होगा। फाइनल 17 मार्च को बेंगलुरू में खेला जाना है। पुणे और बेंगलुरू ने पहले हाफ में सुरक्षात्मक फुटबाल खेली। इस हाफ का असली रोमांचक क्षण 31वें मिनट में आया। बेंगलुरू ने फ्रीकिक पर एक बेहतरीन मौका बनाया लेकिन पुणे के गोलकीपर विशाल कैथ ने उसे नाकाम कर दिया। कप्तान सुनील छेत्री की फ्रीकिक पर गेंद गोल में घुस रही थी लेकिन कैथ ने अपने बाएं हाथ से उसे क्रॉसबार के ऊपर कर दिया।
दूसरे हाफ की शुरुआत धमाकेदार रही। मेजबान टीम ने 47वें मिनट में बेंगलुरू के पोस्ट पर हमला किया। इसमें कई खिलाड़ी शामिल रहे लेकिन सफलता हासिल नहीं हुई। इसके बाद बेंगलुरू ने 50वें और 51वें मिनट में दो अच्छे मौके बनाए लेकिन उसकी भी किस्मत ने साथ नहीं दिया। पुणे ने 56वें मिनट मेंआशिक कुरुनियान की जगह इसाक वनमालसावमा को मैदान पर उतारा। डिएगो कार्लोस ने 60वें मिनट में एक अच्छा मूव बनाया और तेजी से गेंद लेकर बॉक्स में पहुंचे और पोस्ट की ओर से करारा शॉट दागा लेकिन गेंद बार को छूते हुए बाहर चली गई।
बेंगलुरू ने 62वें मिनट में पहला बदलाव किया और टोनी डोवाल के स्थान पर एरिक पार्टालू को मैदान पर लेकर आए। पुणे की ओर से मार्सेलिन्हो ने 68वें मिनट में फ्रीकिक पर जोरदार शॉट लिया, जो सही दिशा में जाता दिख रहा था लेकिन गुरप्रीत सावधान थे। उन्होंने गेंद को हाथों से धकेला और वहां मौजूदा साहिर तावोरा ने उसे क्लीयर कर दिया। मार्सेलिन्हो ने 75वें मिनट में पुणे के लिए एक स्र्विणम मौका बनाया था लेकिन इसाक उसे भुना नहीं सके। मार्सेलिन्हो ने इसाक को खाली देख बॉक्स में उन्हें गेंद दिया। इसाक के पास काफी समय था। वह गेंद को किसी भी कोने में डाल सकते थे लेकिन वह गेंद का अनुमान नहीं लगा सके और इस तरह एक बेहतरीन मौका पुणे के हाथों से निकल गया। मेजबान टीम ने 81वें मिनट में डिएगो कार्लोस को बाहर कर जोनाथन लुका को मौका दिया। अतिरिक्त समय में पुणे के कप्तान मार्सेलिन्हो बाहर गए और माकोस तेबार को अंदर किया लेकिन इसके बावजूद मेजबान टीम गोल नहीं कर पाई।  

.
.
.
.
.