Sports

मुंबई : हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में एफसी गोवा, मुंबई सिटी एफसी से बेहतर टीम साबित हुई है, लेकिन शनिवार को मुंबई फुटबाल एरेना में खेले जाने वाले दूसरे सेमीफाइनल मैच के पहले चरण में इन दोनों टीमों में से कौन जीतेगा इसकी कोई गारंटी नहीं है। लीग स्टेज में एफसी गोवा ने मुंबई को दो बार हराया है। पहली भिड़ंत में गोवा ने अपने घर में मुंबई को 5-0 से मात दी थी तो वहीं दूसरे मैच में भी गोवा ने मुंबई को उसके घर में 2-0 से हराया था।

बेशक गोवा, मुंबई से बेहतर टीम हो, लेकिन जब दोनों टीमें नॉक आउट स्टेज में आमने-सामने होंगी तो मुंबई पुरानी हार को भूल कर जीत हासिल करना चाहेगी। गोवा से 0-5 से मिली हार ने मुंबई को झकझोर दिया था और इसके बाद कोस्टा ने अपनी टीम के खिलाडिय़ों को कड़ी मेहनत करने को कहा था। इसके बाद मुंबई ने शानदार वापसी की और एक समय तक अपराजित रही बेंगलुरू एफसी को मात दी। लीग के पांच सीजनों में गोवा ने मुंबई के खिलाफ सात क्लीनशीट हासिल की हैं और उसके खिलाफ 19 गोल किए हैं। कोच सर्जियो लोबेरा के मार्गदर्शन में गोवा लगातार दूसरी बार प्लेऑफ में पहुंची है। बीते सीजन चेन्नइयन एफसी के हाथों मात खाने के बाद फाइनल में न पहुंचने वाली गोवा इस बार फाइनल में जाने के लिए बेताब होगी।  

लोबेरा की गोवा ने एक बार फिर लीग में आक्रामक फुटबाल खेल सभी को प्रभावित किया और 18 मैचों में कुल 36 गोल दागे। फेरान कोरोमिनास ने एक बार फिर टीम की जिम्मेदारी ली। स्पेन का यह खिलाड़ी लगातार दूसरी बार गोल्डन बूट की रेस में है। गोवा की सफलता के पीछे कोरोमिनास के 15 गोल का अहम योगदान है तो वहीं मुंबई को शीर्ष-4 में पहुंचाने में मोदू सोगू ने बड़ी भूमिका निभाई है। सोगू के इस सीजन में अभी तक 12 गोल हैं। यह मुंबई के किसी भी खिलाड़ी द्वारा आईएसएल के एक सीजन में किए गए सबसे ज्यादा गोल हैं। सोगू मुंबई के लिए कोस्टा की रणनीति का अहम हिस्सा हैं, लेकिन पुर्तगाली कोच के टीम के ऊपर प्रभाव को अनदेखा नहीं किया जा सकता। कोस्टा ने बीते सीजन में कोच रहे एलेक्जेंडर गुइमारेस से कमान लेने के बाद मुंबई की किस्मत को बदला है। इस मैच में सभी की नजरें सोगू और कोरोमिनास पर होंगी, लेकिन यह मैच दोनों टीमों की डिफेंसिव ताकत को भी परखेगा। दोनों ने 18 मैचों में 20-20 गोल खाए हैं। 

.
.
.
.
.