Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : हर किसी के लिए कोई न कोई दिन स्पेशल जरूर होता है जिसे वह भुला नहीं सकता। आज का दिन (29 जनवरी) भारतीय पेसर इरफान पठान के लिए ऐसा ही है। लेकिन इरफान के साथ यह दिन क्रिकेट प्रेमियों के लिए भी खास है क्योंकि आज से 13 साल पहले इरफान ने पाकिस्तान के खिलाफ खेलते हुए कराची टेस्ट के पहले ही ओवर में हैट्रिक लगाई थी। हालांकि इस मैच में भारत की हार हुई थी लेकिन इरफान अपनी छाप जरुर छोड़ गए जो लोगों को आज भी याद है। गौर हो कि हैट्रिक विकेट के मामले में वह हरभजन सिंह के बाद दूसरे बोलर थे, लेकिन पहले ओवर में हैट्रिक का पहला मौका था।

ऐसे आई हैट्रिक
पहले दो मैच ड्राॅ होने के बाद 29 जनवरी 2006 को कराची टेस्ट सीरीज का तीसरा और आखिरी टेस्ट मैच था। पाकिस्तानी बल्लेबाज क्रीज पर बेटिंग करने उतरे तो कप्तान सौरभ गांगुली ने इरफान को गेंद थमाई। इसके बाद इरफान ने वह कर दिखाया जिसकी किसी को उम्मीद भी ना थी। पाकिस्तान की ओर से सलमान बट्ट बल्लेबाजी करने उतरे। पहली तीन गेंदों पर कोई स्कोर नहीं बना लेकिन जब इरफान ने चौथी गेंद फेंकी तो बट्ट के बल्ले के किनारे पर लगते हुए पहली स्लिप में खड़े राहुल द्रविड़ ने लपक कर कैच पकड़ ली और बट्ट आउट हुए।  

PunjabKesari

इसके बाद यूनुस खान आए। पांचवी गेंद स्विंग होकर अंदर की तरफ आई और यूनुस के पैड से टकराई जिससे वह LBW हो गए। इसके बाद जो होने वाला था उसकी कल्पना शायद इरफान ने भी नहीं की थी। मैदान में मोहम्मद यूसुफ की एंट्री हुई और पठान ने ओवर की आखिरी गेंद फेंकी। यह इनस्विंगर बाॅल थी। इससे पहले यूसुफ कुछ समझ पाते गेंद सीधे स्टंप्स से जा टकराई और इरफान की हैट्रिक पूरी हो गई। 

.
.
.
.
.