Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : पुलवामा में हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तानी निशानेबाजों का वीजा रद्द कर दिया था। अब इसका खामियाजा भारत को भुगतना पड़ा है। पाक निशानेबाजों का वीजा रद्द करने पर इंटरनेशनल ओलंपिक संघ (आईओसी) ने भारत को बड़ा झटका देते हुए भविष्य में आयोजित होने वाले किसी भी ओलिंपिक और खेल प्रतियोगिताओं की मेजबानी से अलग कर दिया है।

पाकिस्तानी निशानेबाजों को वीजा ना मिलने पर नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ पाकिस्तान ने इस बात की शिकायत आईओसी के अधिकारियों से की थी। इस शिकायत के बाद एक बैठक की गई जिसमें फैसला लेते हुए भविष्य में आयोजित होने वाले किसी भी ओलिंपिक और खेल प्रतियोगिताओं की मेजबानी से भारत को अलग कर दिया। यहां भारत के लिए राहत भरी खबर यह है कि लिखित आश्वासन पर आईओसी ने फिलहाल विश्व कप की मेजबानी नहीं छीनी है।

IOC Suspends hosted sports championships from India

आईओसी के मुताबिक, 'भारतीय एनओसी, आईओसी और आईएसएसएफ जैसे प्रयासों के बावजूद पाक निशानेबाजों को विश्व कप में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं मिल सकी। यह ओलंपिक नीति के खिलाफ है। आईओसी की प्रतिबद्धता है कि मेजबान देश में आनेवाले सभी खिलाड़ियों को किसी राजनीतिक हस्तक्षेप के बिना निष्पक्ष और समानता के माहौल में प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का मौका मिले।' आईओसी के अनुसार, 'मौजूदा घटनाक्रम के परिणाम के तहत आईओसी एग्जिक्यूटिव बोर्ड ने यह फैसला किया है कि भारतीय एनओसी और सरकार के साथ भविष्य में किसी भी खेल प्रतियोगिता और ओलिंपिक से संबंधित प्रतियोगितायओं के आयोजन को लेकर सभी चर्चाएं पूरी तरह से स्थगित की जाती हैं।'

IOC Suspends hosted sports championships from India

गौर हो कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए एक आतंकी हमले में 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे जिसके बाद पाकिस्तानी के दो निशानेबाजों जी एम बशीर और खलील अहमद के वीजा आवेदन रद्द कर दिया गया था। ये दोनों खिलाड़ियों को नई दिल्ली में आयोजित टूर्नामेंट में रैपिड फायर वर्ग में हिस्सा लेना था जो 2020 ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफायर प्रतियोगिता भी है। 

.
.
.
.
.