Sports

हैदराबाद : क्रिकेट में भाग्य बहुत मायने रखता है और भाग्य बढ़िया बनाने के लिए भगवान के द्वार से अच्छा कोई स्थान नहीं। कुछ ऐसी ही मिसाल आजकल हैदराबाद क्रिकेट स्टेडियम की दी जा रही है, जहां पर भारत और वेस्टइंडीज की टीमें दूसरे टेस्ट के लिए आमने-सामने रहीं। दरअसल, मंदिर परिसर में बना एक मंदिर इन दिनों खासा चर्चा में है। बताया जा रहा है कि जब से यह मंदिर बना है, टीम इंडिया यहां कभी मैच नहीं हारी है। जो पिछले तीन टेस्ट हुए हैं, उनमें उसे बड़ी जीत मिली है। 

PunjabKesari

मंदिर के पुजारी हनुमंत शर्मा बताते हैं कि इस मंदिर का निर्माण 2011 में किया गया था। दरअसल, भारतीय टीम और आईपीएल की तत्कालीन स्थानीय फ्रेंचाइजी डेक्कन चार्जर्स इस मैदान पर मैच नहीं जीत पा रहे थे। यह मैदान घरेलू टीमों के लिए अशुभ साबित हो रहा था। ऐसे में, जांच करने पर यहां वास्तुदोष पाया गया। इसके बाद भगवान गणेश का मंदिर बनाया गया जो जो वास्तुशास्त्र के देवता हैं। शर्मा ने दावा किया कि 2011 के बाद से भारतीय टीम इस मैदान पर कभी नहीं हारी। आंकड़ों के अनुसार, भारत ने इस मैदान पर अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच 2005 में खेला था। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस वनडे मैच में भारत पांच विकेट से हार गया था। इसके बाद भारतीय टीम 2007 और 2009 में ऑस्ट्रेलिया से भी पराजित हो गई थी। वर्ष 2011 में भारत ने इंग्लैंड और श्रीलंका को यहां हराया। 

PunjabKesari

2010 में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत ने यहां टेस्ट खेला था जो ड्रा रहा। इसके बाद जो तीन टेस्ट खेले गए, उनमें भारत को बड़ी जीत मिली। इस मंदिर में दर्शन के लिए महेंद्र सिंह धोनी भी आते रहे हैं। 

.
.
.
.
.