Sports

जकार्ताः भारतीय महिला हॉकी टीम ने बेहद संघर्षपूर्ण सेमीफाइनल में बुधवार को चीन को 1-0 से पराजित कर 20 साल के लंबे अंतराल के बाद 18वें एशियाई खेलों के फाइनल में प्रवेश कर लिया। भारतीय टीम के लिए मैच का एकमात्र महत्वपूर्ण गोल गुरजीत कौर ने 52वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर किया। भारतीय टीम अब 20 साल के अंतराल के बाद स्वर्ण पदक जीतने और 2020 के टोक्यो ओलंपिक का टिकट हासिल करने से एक कदम दूर रह गई है। भारत ने आखिरी बार 1982 के नई दिल्ली एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था।  

गोल्ड कब्जाने के लिए जापान से होगा सामना
चीन को हराने के बाद अब भारत का गोल्ड कब्जा कब्जाने के लिए शुक्रवार को जापान से सामना होगा। जापान अन्य सेमीफाइनल में गत चैंपियन कोरिया को 2-0 से पराजित कर चुका है। चीन ने पिछले एशियाई खेलों में रजत और भारत ने कांस्य पदक जीता था। भारत ने आखिरी बार एशियाई खेलों का फाइनल 1998 के बैंकॉक खेलों में खेला था तब भारतीय टीम कोरिया से पराजित हुई थी। इस हार के साथ तीन बार की पूर्व चैंपियन चीन का लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया।
PunjabKesari

देखने को मिला कड़ा मुकाबला
सेमीफाइनल काफी संघर्षपूर्ण रहा और पहले तीन क्वार्टर में कोई भी टीम गोल नहीं कर पायी। भारत ने चौथे क्वार्टर के 52वें मिनट में इस गतिरोध को तोड़ा और यह गोल अंतत: मैच विजयी साबित हुआ। भारत को इस मिनट में लगातार तीन पेनल्टी कॉर्नर हासिल हुए। पांचवां और छठा पेनल्टी कॉर्नर बेकार गया लेकिन सातवें पेनल्टी कॉर्नर पर गुरजीत ने जो शॉट लिया वह गोल के ऊपरी हिस्से में समा गया। भारत का गोल होते ही चीनी खिलाड़ियों ने विरोध दर्ज कराते हुए रेफरल मांग लिया लेकिन टीवी अंपायर ने रिप्ले देखने के बाद गोल को बरकरार रखा। भारत ने शेष आठ मिनट में अपनी बढ़त को कायम रखते हुए फाइनल में जगह बना ली। आखिरी सीटी बजते ही भारतीय खिलाड़ी खुशी से उछल पड़ीं।   

कोच ने खिलाड़ियों को लगाया गले
पेनल्टी कॉर्नर पर जैसे ही भारत का गोल हुआ, कोच शुअर्ड मरिने ने खिलाड़ियों को गले लगाकर अपनी खुशी का इजहार किया। वह जानते थे कि यह गोल कितना महत्वपूर्ण है।  स्वर्ण और ओलंपिक टिकट से एक कदम दूर खड़ी भारतीय टीम को फाइनल से एक दिन पहले अपनी कुछ कमजोरियों पर चिंतन कर लेना होगा। भारत ने सात पेनल्टी कार्नर में सिर्फ एक को भुनाया और गोल करने के चार शानदार मौके भी गंवाए। जापान ने जिस तरह दूसरे सेमीफाइनल कोरिया को 2-0 से हराया है वह भारतीय टीम के लिए चिंता की बात हो सकती है।
PunjabKesari

भारत ने 5 मैचों में 39 गोल
इससे पहले कप्तान रानी रामपाल की शानदार हैट्रिक से भारतीय महिला हॉकी टीम ने थाईलैंड को आज 5-0 से पीटकर अपने पूल बी में लगातार चौथी जीत दर्ज की थी। भारतीय टीम सेमीफाइनल में अपना स्थान पहले ही सुनिश्चित कर चुकी थी और इस जीत के बाद उसने 12 अंकों के साथ पूल बी में शीर्ष स्थान हासिल कर लिया था। रानी रामपाल की अगुवाई में महिला टीम ने अब तक 5 मैचों में 39 गोल दागे हैं और उसके खिलाफ सिर्फ एक गोल हुआ है। इंडोनेशिया को 8-0, कजाखिस्तान को 21-0, गत चैंपियन कोरिया को 4-1 से हराने के बाद भारतीय टीम ने इंडोनेशिया को 5-0 से धो दिया।  

.
.
.
.
.