Sports

नई दिल्लीः भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ वडोदरा में वनडे मैच खेला। जिसमें भारत की तरफ से नौवें नंबर पर आने वाली पूजा वस्त्रकार ने शानदार बैटिंग करते हुए फिफ्टी लगाई। उन्होंने अपने 50 रन पूरे करते ही एक रिकाॅर्ड को अपने नाम कर लिया। इस नंबर पर बैटिंग करते हुए फिफ्टी लगाने वाली वस्त्रकार पहली महिला क्रिकेटर बन गई है। इनसे पहले न्यूजीलैंड की ल्यूसी ने साल 2009 में इस नंबर पर बैटिंग करते हुए 48 रन बनाए थे। 

लगाई अपने करियर की पहली फिफ्टी
भारतीय टीम ने टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। भारत ने आॅस्ट्रेलिया को 50 ओवरों में 201 रनों का लक्ष्य दिया। वस्त्रकार ने अपने वनडे करियर की पहली फिफ्टी लगाई है, उन्होंने 7 चौके और 1 छक्के की मदद से 56 गेंदों पर 51 रन बनाए। लेकिन 49.4 ओवर में जोनासेन की बॉल पर वस्त्रकार हैंस के हाथों कैच आउट हो गई। इनके अलावा भारत की ओर से पूजा ने 51 तो वहीं सुषमा वर्मा ने 41 और पूनम राउत ने 37 रन की इनिंग खेली। इस लक्ष्य का सामना आॅस्ट्रेलिया ने 2 विकेट देकर 32.1 ओवरों में ही हासिल कर लिया। 

वस्त्रकार को शुरू से ही उनके पापा ने सपोर्ट किया
पूजा मध्यप्रदेश के शहडोल की रहने वाली हैं। ये छह भाई बहन हैं, जिनमें सबसे छोटी वस्त्रकार हैं। पूजा की बड़ी बहन ऊषा वस्त्रकार भी नेशनल एथलीट रही हैं। उनके पिता पी वस्त्रकार बीएसएनएल में जॉब करके रिटायर हुए हैं। पूजा को क्रिकेट के लिए उसके परिवार ने पूरा सपोर्ट किया। उन्होंने खुद इस बात को एक इंटरव्यू के जरिए किया। पूजा ने कहा कि, उनके पिता बचपन से उन्हें सपोर्ट करते आए हैं। वे कहा करते थे कि 'खेलोगे कूदोगे बनोगे नवाब।' पूजा एक ऑलराउंडर की हैसियत से टीम में हैं। उनके मुताबिक वे तो बैटिंग करना चाहती थीं। लेकिन एक मैच के दौरान जब उन्होंने बॉलिंग की तो सिलेक्टर्स का ध्यान उनकी ओर गया और वे फास्ट बॉलर बन गईं।

.
.
.
.
.