Sports

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री ने विश्वकप जीतने के लिए कप्तान विराट कोहली पर अत्यंत निर्भरता से इंकार करते हुए कहा है कि पिछले पांच वर्षों के प्रदर्शन से स्पष्ट है कि टीम किसी एक खिलाड़ी पर आश्रित नहीं रही है। शास्त्री ने कहा कि भारतीय टीम को आगे ले जाने के लिए अकेले विराट पर दबाव नहीं है। उन्होंने कहा, ‘यदि आप पिछले पांच वर्षों को देखें तो टीम इंडिया ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और हमेशा शीर्ष दो या तीन पायदान पर रही है। पिछले पांच वर्षों में हमारी टीम नंबर एक टेस्ट टीम बनी और ट्वंटी 20 में शीर्ष तीन में रही। इस पायदान तक पहुंचने के लिए आप किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं रह सकते हैं।'        

भारतीय कोच ने दुबई में एक वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘हमारी टीम का रिकार्ड निरंतर रहा है और आपको इस लय को बनाए रखने के लिए उसी तरह के खिलाड़ियों की जरूरत होती है। इसका श्रेय पूरी टीम को जाता है।' भारतीय टीम 30 मई से आईसीसी विश्वकप में विराट की कप्तानी में उतरेगी जो टीम के स्टार बल्लेबाज भी हैं।        

शास्त्री ने साथ ही विश्वकप में 15 सदस्यीय के बजाय 16 सदस्यीय टीम होने की भी वकालत की। उन्होंने टीम चयन को लेकर कहा, ‘मैं कभी भी चयन में हस्तक्षेप नहीं करता। यदि मेरी कोई सोच होती है तो हम कप्तान को बताते हैं। जब आपको 15 खिलाड़ी ही चुनने हैं तो किसी को बाहर तो करना पड़ेगा। यह दुर्भाग्यपूर्ण है, मैं तो 16 खिलाड़यिों का चयन करता। हमने यह काफी पहले आईसीसी से भी कहा था कि 15 के बजाय 16 सदस्यीय टीम होनी चाहिए।' 

.
.
.
.
.