Sports

गोल्ड कोस्ट: अभी तक अपराजेय भारतीय हाकी टीम 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में जब न्यूजीलैंड के सामने उतरेगी तो उसका इरादा जीत के जज्बे को कायम रखते हुए स्वर्ण पदक की ओर अगला कदम रखने का होगा। मनप्रीत सिंह की अगुवाई वाली टीम को पूल बी के पहले मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान ने ड्रा पर रोका। इसके बाद निचली रैंकिंग वाली वेल्स को 4-3 से हराने में भारत को पसीना बहाना पड़ा।

मलेशिया पर 2-1 से जीत के बाद इंग्लैंड को 4-3 से हराकर भारत ने पूल में शीर्ष स्थान हासिल किया। इंग्लैंड के खिलाफ रोमांच की पराकाष्ठा तक पहुंचे मैच में भारत ने आखिरी एक मिनट और 36 सेकंड में दो गोल किए। पहले वरूण कुमार ने बराबरी का गोल दागा और फिर मनदीप सिंह ने 60वें मिनट में विजर्ई गोल किया जिसकी नींव मनप्रीत ने रखी थी। मनप्रीत ने इंग्लैंड को हराने के बाद कहा ,‘‘ हमें यह मैच जीतना ही था क्योंकि हम अपनी आक्रामक लय हासिल करना चाहते थे। पहले तीन मैच में हम अच्छा नहीं खेल सके थे । ’’ 

इंग्लैंड के खिलाफ खराब शुरूआत और दो बार पिछडऩे ( 17वें और 56वें मिनट में ) के बावजूद भारतीय टीम ने न सिर्फ वापसी की बल्कि अंतिम क्षणों में संयम बरकरार रखते हुए जीत दर्ज की। मनप्रीत ने कहा ,‘‘ मैच हारने के बाद बेंगलूरू में अभ्यास शिविर के दौरान जो सजा दी जाती थी , उसका मकसद ही जीत का रवैया भरना था ।’’  उन्होंने कहा ,‘‘ हमने आखिरी क्षणों में गोल गंवाये लेकिन इस बार हम आखिरी सेकंड तक हार या ड्रा से संतोष नहीं करना चाहते थे। वैसे अभी भी यह हमारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं था लेकिन हमने आखिर तक हार नहीं मानी ।’’

कप्तान ने कहा ,‘‘ न्यूजीलैंड के खिलाफ भी हम उनके खेल पर फोकस नहीं करेंगे बल्कि अपनी ताकत पर पूरा ध्यान देंगे और आखिरी क्षण तक हार नहीं मानेंगे।’’ भारत ने इस साल जनवरी में न्यूजीलैंड दौरे पर मेजबान टीम को दो बार हराया था। मनप्रीत ने कहा ,‘‘हम उनसे हाल ही में दो बार खेल चुके हैं। दोनों टीमों को एक दूसरे के बारे में पता है लेकिन वह अलग टूर्नामेंट था और यहां अलग है। हम अपने बेसिक्स नहीं छोड़ेंगे और कोई गलती नहीं करेंगे।’’