Sports

गोल्ड कोस्टः भारतीय कोच सोर्ड मारिने ने कहा कि जब उन्होंने आज यहां राष्ट्रमंडल खेलों में पाकिस्तान के खिलाफ अपनी टीम को खेलते हुए देखा तो उन्हें लगा कि वह जिस टीम को कोचिंग दे रहे हैं , यह वो टीम नहीं है जिसने बढ़त गंवाकर निराशाजनक 2-2 से ड्रा खेला।  पूल बी मैच के समाप्त होने के बाद उन्होंने कहा , ‘‘ आज मैं टीम को पहचान नहीं सका क्योंकि मैं पिछले पांच महीनों से जिस टीम को कोचिंग दे रहा हूं , यह वैसी नहीं लगी। ’’           

यह पूछने पर कि पाकिस्तान की हाल की खराब फार्म को देखते हुए भारतीय टीम ने ढिलाई बरती तो मारिने ने कहा , ‘‘ कभी कभार अगर आप नर्वस होते हो तो भी आप थोड़े रिलैक्स दिख सकते हो। ’’  उन्होंने कहा , ‘‘ टीम का लेवल काफी नीचे रहा। यह शायद इसलिएभी हो सकता है क्योंकि हम पाकिस्तान से खेल रहे थे और यह इसलिए भी हो सकता है क्योंकि हम टूर्नामेंट का पहला मैच खेल रहे हैं। मैं अब परिणाम नहीं बदल सकता, हम अब अगले मैच ( कल वेल्स के खिलाफ ) पर निगाह लगाये हैं। ’’ 

नीदरलैंड के कोच ने कहा कि उनके खिलाडिय़ों ने पाकिस्तान को बेहतर टीम दिखाने में मदद की जिसमें मैच के पहले 30 मिनट में जज्बे की कमी दिख रही थी। उन्होंने कहा , ‘‘ निश्चित रूप से हम खुश नहीं है , लेकिन खिलाड़ी मुझसे भी ज्यादा निराश हैं। हमें देखना होगा कि ऐसा क्यों हुआ, यही सबसे अहम है। मैं इस प्रदर्शन से बिलकुल भी संतुष्ट नहीं हूं। ’’ मारिने ने कहा, ‘‘अगर आप मैच देखो तो हमें बेसिक्स में सुधार करना होगा। हमने पाकिस्तान को अच्छा खेलने दिया। मैं टीम से फीडबैक लेना चाहता हूं, उन्हें क्या महसूस हुआ। रणनीति स्पष्ट थी लेकिन फिर भी वे रास्ते से भटक गये। ’’      

.
.
.
.
.