Sports

नई दिल्ली : इंग्लिश लीग फुटबाल में खेलने वाली पहली भारतीय महिला फुटबालर अदिति चौहान का कहना है कि भारतीय महिला फुटबाल के स्तर में काफी सुधार हुआ है। भारतीय महिला लीग (आईडब्ल्यूएल) के शुरू होने से भी भारतीय खिलाडिय़ों को फायदा मिला हैं। बता दें कि गोवा में वेदांता ने तो महाराष्ट्र के कोल्हापुर में भी महिलाओं के लिए ऐसी लीग शुरू की गई हैं।

PunjabKesari

भारतीय महिला फुटबाल टीम की उपकप्तान अदिति ने कहा कि वह फुटबॉल में लड़कियों की भागीदारी बढ़ाना चाहती है। इसके लिए उन्होंने अपनी अकादमी में फिलहाल वर्कशॉप से शुरूआत की है। हम स्कूलों में जाकर बच्चों को फुटबाल में आने के लिए प्रेरित करते हैं। 

PunjabKesari

अदिति ने कहा- मेरा सपना था कि मैं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधत्व करूं। वेस्टहैम जाकर भी मेरा एक सपना पूरा हुआ। इंग्लिश लीग में खेलने के अपने अनुभव पर अदिति ने कहा- मैं जब वेस्टहैम में खेल रही थी तो उस समय स्टूडैंट वीजा पर वहां गई थी इसलिए प्रोफेशनल नहीं खेल सकी। लेकिन वहां खेलने से मुझे काफी अनुभव मिला और मेरे खेल में सुधार आया। भारत में मैं इंडिया रश क्लब की तरफ से खेलती हूं। 

.
.
.
.
.