IPL 2019
Sports

नई दिल्लीः भारत के दूसरी कतार के तेज गेंदबाजों संदीप शर्मा, अंकित राजपूत, सिद्धार्थ कौल, अवेश खान और बासिल थम्पी ने आईपीएल-11 मेंं अब तक प्रभावशाली प्रदर्शन किया है। राजपूत ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 14 रन पर पांच विकेट लिए थे जो सत्र का अब तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है इसके बावजूद उनकी टीम पंजाब जीत हासिल नहीं कर पायी थी। इससे पहले के मुकाबले में उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 23 रन पर दो विकेट लिए थे जिसने टीम को करीब से जीत दिलाने में भूमिका निभाई थी। 

सिद्धार्थ का प्रदर्शन काबिले तारीफ रहा
इसी तरह से सिद्धार्थ ने भी अब तक टूर्नामेंट में प्रभावित किया है और गत सप्ताह उनका प्रदर्शन काबिले तारीफ रहा जब उन्होंने मुंबई के खिलाफ 23 रन पर तीन विकेट और राजस्थान के खिलाफ 23 रन पर दो विकेट लिए। संदीप ने भी अपनी अलग क्लास दिखाई है और अन्य गेंदबाजों को अपने बेहतरीन इकोनोमी रेट से पीछे छोड़ा है। संदीप के प्रदर्शन के कारण ही हैदराबाद को चोटिल तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की कमी महसूस नहीं हुई। 

उमेश और उनादकट जैसे गेंदबाजों को पीछे छोड़ दिया
संदीप ने अपने पिछले तीन मैचों में तीन ओवरों में नौ रन पर एक विकेट, चार ओवर में 17 रन पर दो विकेट और चार ओवर में 15 रन पर एक विकेट लिया। उन्होंने इन तीन मैचों में 11 ओवरों में 41 रन देकर चार विकेट हासिल किए। जहां तक इकोनोमी रेट की बात है संदीप, राजपूत और कौल पिछले सप्ताह में छह या उससे ज्यादा ओवर डालने वाले 20 तेज गेंदबाजों में क्रमश: पहले, दूसरे और चौथे स्थान पर हैं। इन गेंदबाजों ने उमेश यादव और जयदेव उनादकट जैसे हाईप्रोफाइल तेज गेंदबाजों को पीछे छोड़ा है। उनादकट तो नीलामी में सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी रहे थे।

हैदराबाद के सिद्धार्थ टूर्नामेंट के आठ मैचों में अब तक सर्वाधिक 11 विकेट हासिल किए हैं। पंजाब के अंकित राजपूत ने तीन मैचों में सात विकेट, हैदराबाद के संदीप शर्मा ने चार मैचों में छह विकेट और बासिल थम्पी ने तीन मैचों में पांच विकेट तथा दिल्ली के अवेश खान ने दो मैचों में चार विकेट लिए। हैदराबाद ने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के कारण कई मैचों में कम स्कोर बनाने के बावजूद उसका सफलतापूर्वक बचाव किया। 

.
.
.
.
.