नई दिल्ली: 18 साल के भारतीय बल्लेबाज़ पृथ्वी शॉ ने वेस्टइंडीज़ के खिलाफ गुरूवार से शुरू हुए पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन अपने डेब्यू मैच में 134 रन की शतकीय पारी खेलकर इतिहास रच दिया और इसके साथ ही वह डेब्यू मैच में शतक लगाने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय क्रिकेटर बन गए। मुंबई के युवा बल्लेबाज़ ने यहां सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में ओपनिंग करते हुए 56 गेंदों में अपने 50 रन और 99 गेंदों में 100 रन पूरे किए।

PunjabKesari

एक नजर रिकार्ड्स पर:

  • पृथ्वी अपने डेब्यू मैच में शतक लगाने वाले 15वें भारतीय बल्लेबाज हैं लेकिन उन्होंने 18 साल 329 दिन में यह उपलब्धि हासिल की जो कि भारतीय रिकार्ड है। 
  • यही नहीं वह सचिन तेंदुलकर (17 साल 112 दिन) के बाद टेस्ट मैचों में सैकड़ा पूरा करने वाले सबसे युवा भारतीय बल्लेबाज भी बन गए हैं। 
  • पृथ्वी अपने डेब्यू पर शतक लगाने वाले सबसे युवा बल्लेबाजों की सूची में चौथे नंबर पर काबिज हो गए हैं। 
  • बांग्लादेश के मोहम्म्द अशरफुल और जिम्बाब्वे के हैमिल्टन मास्कादजा ने 18 साल का पूरा होने से पहले यह कारनामा किया था जबकि पाकिस्तान के सलीम मलिक ने जब अपना सैकड़ा जमाया था तो तब उनकी उम्र शॉ की वर्तमान उम्र से छह दिन कम थी।           
  • पृथ्वी ने 99 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया और इस तरह से टेस्ट डेब्यू पर सबसे तेज सैकड़ा पूरा करने वाले तीसरे बल्लेबाज बने। भारत के ही शिखर धवन ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2013 में मोहाली में 85 गेंदों पर और वेस्टइंडीज के ड्वेन स्मिथ ने 2004 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में 93 गेंदों पर शतक पूरा किया था। 
  • पृथ्वी ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू पर भी शतक बनाया था। इस तरह से वह प्रथम श्रेणी और टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू पर शतक लगाने वाले दुनिया के तीसरे बल्लेबाज बन गये हैं। उनसे पहले भारत के गुंडप्पा विश्वनाथ और आस्ट्रेलिया के डर्क वेलहम ने यह उपलब्धि हासिल की थी। वीरेंद्र सहवाग ने भी अपने टेस्ट डेब्यू और प्रथम श्रेणी मैच में अपनी पहली पारी में शतक लगाया था लेकिन यह प्रथम श्रेणी में उनका दूसरा मैच था।           


PunjabKesari

संयोग से शॉ ने अपना पहला प्रथम श्रेणी मैच भी इसी मैदान पर खेला था। उन्होंने जनवरी 2017 में मुंबई की तरफ से रणजी ट्राफी सेमीफाइनल में तमिलनाडु के खिलाफ दूसरी पारी में 120 रन बनाये थे। शॉ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू पर 50 से अधिक रन बनाने वाले पहले भारतीय किशोर बल्लेबाज हैं। भारत की तरफ से उनसे पहले यह रिकार्ड अब्बास अली बेग के नाम पर था जिन्होंने 1959 में इंग्लैंड के खिलाफ ओल्ड ट्रैफर्ड में 20 साल 126 दिन में डेब्यू मैच में पचासा बनाया था।

PunjabKesari

सबसे कम उम्र में डेब्यू पर पारी का आगाज करने का रिकार्ड विजय मेहरा के नाम पर है जिन्होंने 1955 में न्यूजीलैंड के खिलाफ यह गौरव हासिल किया था। वह तब 17 साल 265 दिन के थे। शॉ ने हालांकि मैच की पहली गेंद का सामना भी किया। हैमिल्टन मास्कादजा, तमीम इकबाल और इमरान फरहत ने शॉ से कम उम्र में यह उपलब्धि हासिल की थी। भारत की बात करें तो शॉ ने बुद्धि कुंदरन का रिकार्ड तोड़ा जिन्होंने आस्ट्रेलिया के खिलाफ 1959-60 में 20 साल 113 दिन की उम्र में टेस्ट डेब्यू पर मैच की पहली गेंद खेली थी। 

.
.
.
.
.