Sports

नई दिल्लीः विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी पिछले कुछ समय से खराब फाॅर्म में चल रहे हैं। अगर वो कुछ रन बनाते भी हैं तो उसमें वह ज्यादा गेंदें खेलने का समय ले रहे हैं। ऐसे में अब उनकी फाॅर्म पर सवाल भी उठाए जा रहे हैं। इसी बीच टीम इंडिया के पूर्व कोच और पूर्व कप्तान अनिल कुंबले ने भी धोनी पर निशाना साधा है आैर कहा कि इनकी वजह टीम का मिडल आॅर्डर लड़खड़ा गया है। 

कुंबले का मानना है कि धोनी का बल्ला अब पहले की तरह आग नहीं उगलता। ऐसे में टीम इंडिया को उनसे मैच फिनिशिंग की अपेक्षा नहीं करनी चाहिए। मुताबिक धोनी की खराब फॉर्म के चलते टीम इंडिया का मिडल ऑर्डर इन दिनों संतुलित नहीं दिख रहा। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि पहले यह काम माही बखूबी करते थे, लेकिन हाल की कुछ सीरीज को देखें, तो वह ऐसा में नाकाम रहे हैं। 
PunjabKesari

जंबो ने कहा, 'टीम इंडिया को चाहिए कि अब वह धोनी पर बहुत अधिक निर्भर न रहे और मिडल ऑर्डर को संभालने की जिम्मेदारी दूसरे खिलाड़ियों पर डाले। माही अब पहले जैसे गेम फिनिशर नहीं रहे हैं।'  कुंबले ने हालांकि यह भी माना कि भारत के 2019 वर्ल्ड कप मिशन में धोनी टीम की योजनाओं का अहम हिस्सा हैं और उन्हें वर्ल्ड कप तक टीम में जरूर बने रहना चाहिए।
PunjabKesari

गाैर एशिया कप के दौरान धोनी ने 3 पारियों में कुल 77 रन बनाए और यहां उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 36 रहा। धोनी ने 36 रन की यह पारी फाइनल मैच में बांग्लादेश के खिलाफ खेली। इससे पहले धोनी इंग्लैंड दौरे पर भी सीमित ओवरों की सीरीज में अपने बल्ले से कुछ खास प्रभावित नहीं कर पाए थे। 
PunjabKesari

.
.
.
.
.