Sports

बेंगलुरु : ओलंपिक क्वालिफायर टूर्नामेंट के दौरान भारतीय टीम का मुकाबला कोरिया, पाकिस्तान या ऑस्ट्रिया में से किसी एक टीम के साथ हो सकता है। टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह का कहना है कि वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने की कोशिश करेंगे। हॉकी के पुरुष वर्ग में बाहरी टीमों में मलेशिया, फ्रांस, आयरलैंड, कोरिया, पाकिस्तान, ऑस्ट्रिया और मिस्त्र को नौ से 15 तक की रैंकिंग में रखा गया है। क्वालीफायर टूर्नामेंट का जब ड्रा निकाला जाएगा तो पहली, दूसरी और तीसरी रैंकिंग की टीमों को 12वीं, 13वीं और 14वीं रैंकिंग की टीमों में से किसी एक से भिडऩा पड़ सकता है।

भारतीय पुरुष टीम का मुकाबला कोरिया, पाकिस्तान या ऑस्ट्रिया में से किसी एक से हो सकता है। यदि भारत का मुकाबला पाकिस्तान से होता है तो उसे यह मैच किसी यूरोपीय देश में खेलने पड़ेंगे। इस बारे में पूछे जाने पर मनप्रीत ने कहा-हमारा ध्यान सिर्फ अपने खेल को सुधारने पर लगा हुआ है और जो भी कमियां हैं हम उस पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं। हम इस बात को लेकर चिंतित नहीं है कि हमारा प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान होगा या कोई अन्य टीम हमें अपना काम करना होगा और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देना होगा।

टेस्ट इवेंट को एक अच्छी तैयारी बताते हुए मनप्रीत ने कहा- मैं इस टूर्नामेंट में नहीं खेल पाया था लेकिन बाकी खिलाडिय़ों ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया और खिताब जीता। हमें अंदाजा हो गया कि अगले साल ओलंपिक में यह स्टेडियम कैसा रहेगा और उस समय मौसम के हालात कैसे रहेंगे। अपनी तैयारियों को लेकर कप्तान ने कहा, हम अपने डिफेंस को मजबूत करने पर काम कर रहे हैं ताकि विपक्षी टीम को हमारे सकर्ल में घुसने के ज्यादा मौके ना मिल सकें और जब हम विपक्षी सकर्ल में घुसे तो वहां से पेनल्टी कार्नर या गोल कुछ भी हासिल करके ही लौटें।

.
.
.
.
.