Sports

ब्रेडा (नीदरलैंड): भारतीय पुरूष हाॅकी टीम ने आज यहां चैम्पियंस ट्राॅफी के अंतिम लीग मैच में मेजबान नीदरलैंड से 1-1 से ड्राॅ खेलने के बावजूद फाइनल में प्रवेश किया जहां उसका सामना दुनिया की नंबर एक टीम आस्ट्रेलिया से होगा। पहले तीन क्वार्टर गोल रहित रहे , फारवर्ड मंदीप सिंह ने हरमनप्रीत की ड्रैग फ्लिक पर रिबाउंड से 47 वें मिनट में गोल कर भारत को 1-0 से आगे कर दिया। लेकिन आठ मिनट बाद मेजबानों ने थिएरी ङ्क्षब्रकमान की बदौलत बराबरी हासिल की जिन्होंने करीबी रेंज के शाट को नेट में पहुंचाया। भारत को कल होने वाले फाइनल में पहुंचने के लिये केवल एक ड्रा की जरूरत थी।            

भारत ने पहले बढ़त बनायी और हॉलैंड की टीम ने बराबरी हासिल कर ली लेकिन मेजबान टीम फिर विजयी गोल नहीं कर पायी और फाइनल की होड़ से बाहर हो गयी।   इस ड्रा के बाद भारत के आठ अंक रहे और वह छह टीमों के टूर्नामेंट में दूसरे स्थान पर रहा। हॉलैंड सात अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहा। ऑस्ट्रेलिया पहले ही फाइनल में पहुंच चुका था हालांकि ऑस्ट्रेलिया को अपने आखिरी मैच में ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना से 2-3 से हार झेलनी पड़ी। ऑस्ट्रेलिया के 10 अंक रहे।  

मनदीप सिंह ने 47 वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल कर गतिरोध तोडा लेकिन थिएरी ब्रिकमैन ने 55 वें मिनट में मैदानी गोल से स्कोर बराबर कर दिया। आखिरी पांच मिनट में दोनों टीमों के बीच मुकाबला जबरदस्त रहा लेकिन कप्तान और गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने अपने किले का बखूबी बचाव कर भारत को फाइनल में पहुंचा दिया।  भारत के पास अब फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से लीग मैच में 2-3 से मिली हार का बदला चुकाने और खिताब जीतने का मौका रहेगा।