IPL 2019
Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: कप्तान विराट कोहली के लाजवाब शतक के बाद स्पिनरों ने बीच के ओवरों और तेज गेंदबाजों ने डेथ ओवरों में कमाल दिखाया जिससे भारत ने मंगलवार को यहां उतार चढ़ाव से भरे दूसरे वनडे मैच में आस्ट्रेलिया पर आठ रन की रोमांचक जीत दर्ज करके पांच मैचों की श्रृंखला में 2-0 से बढ़त बनाई। ऐसे में मैच खत्म होने के बाद विजय शंकर ने कहा कि लास्ट ओवर के लिए खुद को पहले से ही कर रहा था तैयार।

मानसिक रूप से खुद को तैयार कर रहा था
PunjabKesari
मैच के बाद शंकर ने कहा, 'मैंने पहले महंगा ओवर किया था, जिसके बाद अपने आप को साबित करने का मौका मिला। शंकर ने अपने पहले ओवर में 13 रन खर्च किए थे। उन्होंने कहा, मैं इस तरह के मौके के इंतजार में था। मैं दबाव में गेंदबाजी करना चाहता था ताकि अगर मैंने प्रदर्शन किया तो वो मुझ पर भरोसा करेंगे। मैं इस चुनौती के लिए पूरी तरह तैयार था।' शंकर ने साथ ही कहा, '43वें ओवर के करीब मैं अपने आप से बोल रहा था कि पारी का आखिरी ओवर करूंगा और इसके लिए खुद को तैयार कर रहा था। मानसिक रूप से स्पष्ट रहने की जरूरत है। मैंने अपने बेसिक्स का ध्यान रखा। स्टंप्स पर गेंद रखी और थोड़ी रिवर्स स्विंग भी मिली।'

विश्व कप में चयन के बारे में नहीं सोचता 
PunjabKesari
भारत की आठ रन की जीत के बाद कहा, ‘मैंने पहले भी कहा था कि मैं कभी चयन या विश्व कप जैसी चीजों के बारे में नहीं सोचता क्योंकि इसमें अब भी काफी समय बचा है। प्रत्येक मैच काफी महत्वपूर्ण है। मैं सिर्फ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करना चाहता हूं और टीम के लिए मैच जीतना चाहता हूं।’ इस आलराउंडर ने आगे कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो निदाहस ट्राफी ने मुझे इतनी सारी चीजें सिखाई। मैंने इसके बाद सीखा कि तटस्थ कैसे रहा जाए। उतार हो या चढ़ाव, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मुझे हमेशा धैर्य बरकरार रखना होगा और बेपरवाह रहना होगा।’

 

 

 

 

 

 

.
.
.
.
.