Sports

चेस्टर-ली-स्ट्रीट : आईसीसी विश्वकप के सेमीफाइनल की होड़ से बाहर हो चुके दक्षिण अफ्रीका ने शानदार गेंदबाजी का प्रदर्शन करने के बाद अपने ओपनर हाशिम अमला और कप्तान फाफ डू प्लेसिस के नाबाद अर्धशतकों से श्रीलंका को शुक्रवार को 9 विकेट से पीटकर उसकी उम्मीदों को गहरा झटका दे दिया। दक्षिण अफ्रीका ने इस मुकाबले में श्रीलंका को 49.3 ओवर में 203 रन पर ढेर करने के बाद 37.2 ओवर में मात्र एक विकेट के नुकसान पर 206 रन बनाकर मुकाबला आसानी से जीत लिया।

PunjabKesari

दक्षिण अफ्रीका ने खेल के तीनों विभागों में शानदार प्रदर्शन तब किया जब टीम सेमीफाइनल की होड़ से बाहर हो गई है। दक्षिण अफ्रीका की 8 मैचों में यह दूसरी जीत है और उसके पांच अंक हो गए हैं। दक्षिण अफ्रीका तालिका में विंडीज को पीछे छोड़कर आठवें स्थान पर पहुंच गई है। श्रीलंका के लिए यह महत्वपूर्ण मुकाबला था और इस हार से उसे गहरा झटका लगा है। श्रीलंका की 7 मैचों में यह तीसरी हार है और उसके खाते में छह अंक हैं। सेमीफाइनल में जाने के लिए श्रीलंका को अपने शेष दोनों मैच जीतने होंगे और साथ ही दूसरी टीमों के परिणामों पर नजर रखनी होगी।

PunjabKesari

क्विंटन डी कॉक (15) का विकेट 31 के स्कोर पर गिराने के बाद अमला और डू प्लेसिस ने दूसरे विकेट के लिए 175 रन की मैच विजयी साझेदारी कर दक्षिण अफ्रीका का खोया सम्मान लौटाने का प्रयास किया। डू प्लेसिस ने इस विश्व कप का अपना चौथा अर्धशतक बनाया जबकि अमला ने इस विश्व कप का अपना दूसरा अर्धशतक बनाया। अमला ने 105 गेंदों पर नाबाद 80 रन में पांच चौके लगाए जबकि डू प्लेसिस ने 103 गेंदों पर नाबाद 96 रन में 10 चौके और एक छक्का लगाया।

PunjabKesari

इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया। श्रीलंका की टीम पहली ही गेंद पर कप्तान दिमुथ करुणारत्ने को गंवा बैठी और उसके बाद लगातार संघर्ष करती रही। श्रीलंका के कई बल्लेबाजों ने अच्छी शुरुआत की लेकिन उसे बड़े स्कोर में नहीं बदल पाए। विकेटकीपर और ओपनर कुशल परेरा ने 30, आविष्का फर्नांडो ने 30, कुशल मेंडिस ने 23, धनंजय डीसिल्वा ने 24, जीवन मेंडिस ने 18 और इसरु उडाना ने 17 रन बनाए। श्रीलंका ने एक विकेट पर 67 रन की अच्छी स्थिति के बाद 111 रन तक जाते-जाते अपने पांच विकेट गंवा दिए।

PunjabKesari

श्रीलंकाई टीम इसके बाद वापसी नहीं कर पाई और 203 रन पर ढेर हो गई। दक्षिण अफ्रीका की गेंदबाजों ने विश्वकप से बाहर हो जाने के बाद दबाव मुक्त होकर गेंदबाजी करते हुए श्रीलंका को जमने का कोई मौका नहीं दिया। ड्वेन प्रिटोरियस ने 25 रन पर तीन विकेट, क्रिस मोरिस ने 46 रन पर तीन विकेट, कैगिसो रबादा ने 36 रन पर दो विकेट, आंदिले फेहलुकवायो ने 38 रन पर एक विकेट और जेपी डुमिनी ने 15 रन पर एक विकेट लिया। कुशल परेरा और फर्नांडो ने चार-चार चौके लगाए जबकि कुशल मेंडिस और डिसिल्वा ने दो-दो चौके लगाए। श्रीलंका की पारी का एकमात्र छक्का जीवन मेंडिस ने मारा।  

प्लेइंग इलेवन

दक्षिण अफ्रीका: हाशिम अमला, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), एडेन मार्कराम, रासी वैन डेर डूसन, जीन-पॉल ड्यूमिनी, एंडिले फेहलुकवेओ, डिएन प्रीटोरियस, क्रिस मॉरिस, कैगिसो रबाडा, इमरान ताहिर

श्रीलंका: दिमुथ करुणारत्ने (कप्तान), कुसल परेरा (विकेटकीपर), अविष्का फर्नांडो, कुसल मेंडिस, एंजेलो मैथ्यूज, धनंजया डी सिल्वा, थिसारा परेरा, जीवन मेंडिस, इसुरु उदाना, लसिथ मलिंगा, सुरंगा लकमल

.
.
.
.
.