Sports

नई दिल्लीः क्रिकेट से संन्यास ले चुके ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने ऑस्ट्रेलिया के लिए मुफ्त में खेलने का प्रस्ताव दिया है ताकि वह गेंद से छेडछाड़ प्रकरण के बाद टीम में आई गिरावट से उबारने में मदद कर सकें। 

उनके संन्यास के बाद कप्तान बने स्टीव स्मिथ के अलावा उपकप्तान डेविड वार्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ संपन्न हुई टेस्ट श्रृंखला के तीसरे मैच में गेंद से छेड़छाड प्रकरण में शामिल रहने के कारण टीम से निलंबित किया गया है। स्मिथ और वार्नर पर एक साल का प्रतिबंध है जबकि बैनक्राफ्ट पर नौ महीने का। सैंतीस साल के स्मिथ ने सिडनी संडे टेलीग्राफ से कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम की मदद करने के लिए मैं कुछ भी करूंगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उम्र सिर्फ उम्र है। क्या 17 बहुत कम उम्र है ? मैंने कभी उम्र की परवाह नहीं की। ब्रैड हॉग 45 साल की उम्र तक खेले थे। मुझे लगता है यह अंकों पर निर्भर नहीं करता, यह प्रतिबद्धता और निष्ठा पर निर्भर करता है।’’ क्लार्क ने कहा कि उन्होंने इस संदर्भ में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड को मैसेज (संदेश) भेजा है लेकिन अभी तक उनका कोई जवाब नहीं मिला।

इस पूर्व कप्तान ने 2015 में 115 वां टेस्ट मैच खेलने के बाद संन्यास लिया था। उन्होंने कहा कि उनके अनुभव से टीम को मैदान के अंदर और बाहर मदद मिल सकती है।

.
.
.
.
.