Sports

कोलकाताः दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ कल रात कोलकाता नाइट राइडर्स की 71 रन की जीत के दौरान मैन आफ द मैच बने नितीश राणा ने कहा है कि वह दबाव में खेलने की चुनौती का लुत्फ उठाते हैं। राणा ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘यह हमारे लिए महत्वपूर्ण मैच था क्योंकि हमने पिछले दो मैच गंवाए थे। दबाव में मेरा प्रदर्शन बेहतर होता है। मुझे दबाव में खेलना पंसद है।’’ राणा ने 35 गेंद में 59 रन की पारी खेली जिससे टीम ने नौ विकेट पर 200 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया और फिर दिल्ली को पांच से अधिक ओवर शेष रहते 129 रन पर ढेर कर दिया।          

मैच में पारी के बारे में पूछने पर राणा ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि मैंने इतनी बड़ी भूमिका निभाई, प्रत्येक को कोई ना कोई जिम्मेदारी दी गई है। मुझे सिर्फ इसे पूरा करना था और बाकी लोगों को भी।’’ दिल्ली ने तीन ओवर में ही तीन विकेट गंवा दिए जिसके बाद ग्लेन मैक्सवेल (47) और ऋषभ पंत (43) ने अर्धशतकीय साझेदारी करके टीम की उम्मीद बंधाई लेकिन कुलदीप यादव (32 रन पर तीन विकेट) और सुनील नारायण (18 रन पर तीन विकेट) ने इस साझेदारी के टूटने के बाद पूरी टीम को समेटने में अधिक देर नहीं लगाई। 

केकेआर के आंद्रे रसेल ने सिर्फ 12 गेंद में 41 रन की पारी खेली और डेयरडेविल्स के बल्लेबाजी कोच श्रीधरन श्रीराम ने कहा कि उनकी टीम ने काफी रन लुटाए और 170-180 का स्कोर प्रतिस्पर्धी होता। उन्होंने कहा, ‘‘उसकी पारी नितीश राणा की पारी पर हावी रही। अगर रसेल जल्दी आउट होता तो हम उन्हें 160 से कम के स्कोर पर रोक सकते थे। रसेल ने जो किया उसकी तुलना में राणा अधिक खतरनाक नहीं होता।’’ श्रीराम को मलाल है कि उनके क्षेत्ररक्षकों ने मोहम्मद शमी की गेंद पर रसेल की कैच टपकाया जबकि वह सिर्फ सात रन बनाकर खेल रहे थे। 

.
.
.
.
.