Sports

जालन्धर : भुवनेश्वर के कालिंगा स्टेडियम में शुरू हुए हॉकी विश्व कप में सभी टीमों की नजरें बेहतर प्रदर्शन कर कप जीतने पर होंगी। लेकिन हॉकी फैंस की नजरें उस एक खिलाड़ी पर होगी जो न सिर्फ अपने खेल से दिल जीतेगा बल्कि अपनी टीम को भी कप दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। पेश है- पांच ऐसे युवा हॉकी प्लेयर जोकि विश्व कप में दमदार प्रदर्शन करने का मादा रखते हैं-

भारत के दिलप्रीत सिंह
PunjabKesarisports Dilpreet singh

19 साल के दिलप्रीत ने थोड़े समय में ही काफी नाम कमाया है। पिछले साल मलेशिया में हुए अंडर-21 सुल्तान जोहोर कप टूर्नामेंट में दिलप्रीत ने 6 मैचों में 9 गोल किए थे। उनके प्रदर्शन को देखते हुए मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने उन्हें सीनियर टीम में जगह दी। मौजूदा विश्व कप में सबकी नजरें दिलप्रीत पर टिकी हुई हैं।

ऑस्ट्रेलिया के जैक हार्वी
PunjabKesarisports Harvey

20 साल के जैक हार्वी 3 बार के ओलंपियन गोडोर्न पियर्स के पोते हैं। वह अभी ऑस्ट्रेलिया के सबसे मजबूत डिफेंडर के तौर पर ख्याति पा रहे हैं। हार्वी कम समय में ही 39 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं।

अर्जेंटीना के माइको कासेला
PunjabKesarisports

21 साल की उम्र में ही अर्जेंटीना के माइको कासेला 35 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। कासेला अर्जेंटीना की राष्ट्रीय टीम में शामिल सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं। लखनऊ में 2016 में हुए अंडर-21 जूनियर विश्व कप टूर्नामेंट से वह सुर्खियों में आए थे। इसके बाद उन्होंने राष्ट्रीय टीम में मौका मिला।

स्पेन के एनरिक गोंजालेज 
PunjabKesarisports

22 साल के एनरिक अपनी रफ्तार और हॉकी स्टिक के साथ शानदार कौशल के लिए जाने जाते हैं। 73 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके लखनऊ में हुए जूनियर हॉकी विश्व कप में सफल रहे थे।

हॉलैंड के जोरिट क्रून 
PunjabKesarisports

20 साल के जोरिट क्रून के पास कम उम्र में ओलंपिक खेलने का अनुभव है। वह उस समय 18 साल के थे। क्रून के सिलेक्शन पर उनकी खूब आलोचना हुई थी। लेकिन उन्होंने अच्छा प्रदर्शन कर सभी के मुंह पर ताला लगा दिया था। क्रून 56 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। 
 

.
.
.
.
.