Hockey

नई दिल्ली : दो बहनों की किसी एक खेल में दिलचस्पी आम बात होंगी विंटर ओलंपिक में भाग ले रही हन्ना और मरिसा की बात जुदा हैं। दोनों बहनें हैं लेकिन आईस हॉकी में अलग-अलग देश से खेल रही हैं। हन्ना जहां यूएस हॉकी टीम में खेल रही हैं वहीं मरिसा नॉर्थ/साऊथ कोरिया आइस हॉकी टीम की मेंबर हैं। ब्रैंट बहनों ने शुरू से लेकर अब तक सब कुछ साथ ही किया है। जिमनास्टिक से लेकर बर्फ पर दोनों साथ ही खेली है। मैरिसा को अडोप्ट किया गया था। मैरिसा जब चार साल की थी तो उनके मां-बाप ग्रेग और रॉबिन ब्रैंडट ने उन्हें अपनाया था। मैरिसा अपनी बहन हन्ना से 11 महीने छोटी है।

ब्रैंट बहनें हाई स्कूल में आइस हाॅकी के लिए शामिल हो गई। काॅलेज में जाने के बाद भी उन्होंने अपने खेल को जारी रखा। हन्ना कोपूरा विश्वास था कि यूएसए की टीम उन्हें सिलेक्ट करेगी। तो वहीं मैरिसा के दिमाग में यह ख्याल आ रहा था कि काॅलेज के साथ-साथ उनका खेल लगभग खत्म हो जाएगा। तब तक दक्षिण कोरिया के महिला आइस हॉकी टीम के कोच सारा मरे से फोन किया और उन्हें पूछा गया कि वे देश के लिए खेलने का प्रतिनिधित्व करेंगी।

.
.
.
.
.