Sports

भुवनेश्वर : नीदरलैंड के खिलाफ विश्व कप क्वार्टर फाइनल होने से पहले भारतीय हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह ने कहा है कि उनकी टीम तीन बार की चैम्पियन डच टीम का सामना करने के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार है। हरेंद्र बोले-  विश्व कप के इतिहास में भारत ने नीदरलैंड के खिलाफ छह में से एक भी मैच नहीं जीता है लेकिन अतीत के आंकड़े मायने नहीं रखते। उन्होंने कहा- इतिहास पढऩे के लिए होता है, समझने के लिए नहीं। हमें पता है कि डच टीम काफी आक्रामक हाकी खेलती है और हम इस चुनौती को तोडऩे के लिए तैयार हैं।

दर्शकों की अपेक्षाएं प्रेरित करेंगी : हरेंद्र

History is for reading not understanding, we are better against nederlands : Harendra
मैच की पूर्व संध्या पर हरेंद्र ने कहा- हमें यकीन है कि हम 130 करोड़ भारतीयों की अपेक्षाओं पर खरे उतरेंगे। डच कोच मैक्स कैलडास ने कहा था कि दर्शकों की अपेक्षाओं का अतिरिक्त दबाव भारत पर होगा लेकिन हरेंद्र ने इसे दबाव नहीं बल्कि टीम की प्रेरणा बताया। उन्होंने कहा- हमारी टीम भुवनेश्वर, रायपुर, लखनऊ जैसी जगहों पर खचाखच भरे स्टेडियमों में खेल चुकी है। हम इसे दबाव नहीं बल्कि अच्छे प्रदर्शन की प्रेरणा मानते हैं। मेरे खिलाडिय़ों को इस तरह के माहौल में खेलना आता है और वे इसका पूरा मजा लेते हैं। हमें पूरे 60 मिनट पूरे जोश और जुनून के साथ खेलना होगा।

टीम के प्रदर्शन में काफी सुधार आया : मनप्रीत सिंह

History is for reading not understanding, we are better against nederlands : Harendra
रियो ओलंपिक 2016 में भारत क्वार्टर फाइनल हार गया था लेकिन कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा कि तब से अब तक टीम के प्रदर्शन में काफी सुधार आ चुका है। उन्होंने कहा- रियो ओलंपिक को 2 साल बीत चुके हैं और तब से अब तक हमने काफी बेहतर हाकी खेली है। हमारा फोकस हाथ आये मौके भुनाने पर और उन्हें कोई मौका नहीं देने पर होगा। हमें पता है कि हमारे लिए यह बहुत बड़ा मौका है और हम निराश नहीं करेंगे। अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने कहा कि नाकआउट चरण नए सिरे से टूर्नामेंट का आगाज हैै और 4 दिन के बाद उनकी टीम उसी लय के साथ उतरने को तैयार है। अपने निजी फार्म के बारे में उन्होंने कहा- मैं कोच की अपेक्षाओं के अनुरूप खेल रहा हूं। हम गोल करके जीते या गोल बचाकर जीतें, फोकस जीत पर है।

.
.
.
.
.