IPL 2019
Sports

नई दिल्ली : कॉमनवैल्थ गेम्स में स्वर्ण और रजत पदक हासिल कर आत्मविश्वास से भरी पिस्टल निशानेबाज हीना सिद्धू ने म्यूनिख में होने वाले अंतरराष्ट्र्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ (आईएसएसएफ) विश्व कप में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताते हुए कहा कि उन्हें अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने पर काम करना होगा। आईएसएसएफ विश्व कप जर्मनी में 22 से 29 मई तक होगा। 

कॉमनवैल्थ गेम्स में 28 साल की हीना ने 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में इन खेलों के नए रिकार्ड के साथ स्वर्ण पदक और 10 मीटर पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक अपने नाम किया था। जर्मनी रवाना होने से पहले हीना ने कहा- मैं आठ से 21 मई तक फोर्जहेम में अभ्यास करूंगी और 13 मई को एक अभ्यास मैच भी खेलूंगी। जिसके बाद इस माह के अंत में मुझे विश्व कप में हिस्सा लेना है।

उन्होंने कहा- मेरा मुख्य ध्यान निरंतर प्रदर्शन करने पर रहेगा। मैंने कॉमनवैल्थ गेम्स में और उसके बाद कोरिया में हुए विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन किया था। वास्तव में, अगर आप स्कोर देखेंगे तो कोरिया में मेरा प्रदर्शन राष्ट्रमंडल खेलों से अच्छा था लेकिन मैं पदक नहीं जीत सकी थी। उन्होंने कहा- मुझे मेरी कमजोरी पता है, दरअसल मैं एक या दो टूर्नामेंटों में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद बुरा प्रदर्शन करने लग जाती हूं। मुझे निरंतरता चाहिए, इसके लिए कोशिश भी कर रही हूं।

हीना ने कहा- खेल के रूप में निशानेबाजी में बदलाव आया है और अब हम लगातार 7-8 दिनों तक निशाना लगाते हैं इसलिए एकाग्रता और निरंतरता जरूरी है। हीना ने अपने करियर की शुरूआत 10 मीटर एयर पिस्टल निशानेबाजी से की थी लेकिन 2017 में उन्होंने 25 मीटर निशानेबाजी में भी हाथ आजमाना शुरू किया और तब से वह अपने पति और कोच रौनक पंडित के साथ इसका प्रशिक्षण ले रही हैं।

उन्होंने कहा- 10 मीटर, 25 मीटर और टीम स्पर्धा तीनों वर्गों में भाग लेना मुश्किल काम है क्योंकि सभी में काफी ध्यान और एकाग्रता की जरूरत होती है। पहले मुझे स्पर्घाओं के बीच में दो-तीन दिन का आराम मिल जाता था लेकिन अब मैं प्रतियोगिता के लगभग हर दिन निशाना लगाती हूं। 

.
.
.
.
.