Sports

नई दिल्लीः यूथ ओलिम्पिक के शूटिंग इवेंट में भारत के लिए गोल्ड मैडल जीतने वाली मनु भाकर ने वीरवार को बीजेपी सरकार को जगाने की कोशिश की। उन्होंने हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज से ट्वीट कर पूछा कि उन्होंने जो 2 करोड़ की ईनामी राशि देने का वादा किया था वो कंफर्म है या फिर एक जुमला। मनु द्वारा यह ट्वीट करने पर खेल मंत्री भड़क उठे और उन्होंने मनु को अनुशासन में रहने की हिदायत दे डाली। 

मंत्री विज ने ट्वीट करते हुए लिखा, ''जनता के बीच जाने से पहले मनु भाकर को स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट से कंफर्म करना चाहिए था। देश में सर्वोच्च पुरस्कार देने वाले राज्य सरकार की निंदा नहीं करनी चाहिए। जैसा कि मैंने ट्वीट किया था कि भाकर को 2 करोड़ रुपये जरूर दिए जाएंगे।'' 
anil vij image

थोड़ी देर बाद  विज ने एक और ट्वीट किया और उन्होंने कहा कि भाकर को ऐसा विवाद खड़ा करने के लिए दुख जताना चाहिए। उन्होंने लिखा, ''खिलाड़ियों में अनुशासन होना चाहिए। मनु को ऐसा विवाद खड़ा करने के लिए दुख जताना चाहिए। उन्हें अपने खेल पर फोकस करना चाहिए।'' हालांकि विज के ट्वीट पर ओलिंपिक असोसिएशन ने कड़ी आपत्ति दर्ज की है। असोसिएशन के अध्यक्ष नरिंदर ध्रुव बत्रा ने कहा कि अनिल विज को खिलाड़ियों को भड़काने की बजाए अपने वादे पूरे करने की दिशा में काम करना चाहिए। 
anil vij image

जब मनु युवा ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनी थीं तब विज ने ट्वीट किया, ‘‘मनु भाकर को युवा ओलंपिक में निशानेबाजी का स्वर्ण पदक जीतने के लिए बधाई। ’’ उन्होंने कहा था, ‘‘हरियाणा सरकार मनु भाकर को स्वर्ण पदक जीतने के लिए दो करोड़ रूपए का नकद पुरस्कार देगी। पिछली सरकार पहले केवल 10 लाख रूपए दिया करती थी। ’’ मनु ने विज के इसी ट्वीट का स्क्रीनशाॅट शेयर करते लिखा- सर, कृप्या कंफर्म कर दें यह सच है या नहीं या फिर यह जुमला है। 
manu bhaker image

.
.
.
.
.