Sports

नई दिल्लीः हॉकी खिलाड़ी हरजीत की रियल लाइफ पर बनी फिल्म ‘हरजीता’ को देखकर दर्शक खूब प्यार दे रहे हैं। एक निक्कर के लिए हॉकी की शुरुआत करने वाले हरजीत की अगुवाई में 2016 में भारतीय टीम ने 15 साल बाद जूनियर वर्ल्ड कप अपने नाम किया था। लेकिन अभी भी हरजीत के दिल में कुछ आैर हासिल करने का ख्वाब है। हरजीत ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू के दाैरान कहा कि अब उनका सपना ओलंपिक में गोल्ड जीतना है। 

हरजीत ने कहा, ''जूनियर विश्व कप जीतना एक सपना था जो सच भी हुआ। पर अब अतीत में मेरा लक्ष्य देश के लिए ओलंपिक खेलों में गोल्ड जीतना है।" उन्होंने कहा कि हाॅकी मेरे लिए सबकुछ है। मैने अपने सीनियर से जूते उधार लिए आैर फिर मैदान पर पसीना बहाया, जिसकी बदाैलत आज मुझे दुनियाभर में सम्मान मिलता है। 

फिल्म के रूप में मिला अच्छा ईनाम
उन्होंने कहा कि फिल्म 'हरजीता' के रूप में मुझे सबसे अच्छा ईनाम मिला। मैने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि जब फिल्म वायरल होगी तो इतना प्यार मिलेगा। यह सब देख अच्छा लगता है लेकिन मेरा ध्यान अब भी हाॅकी पर ज्यादा है। हरजीत ने पुरूष टीम के नए कोच हरेंद्र सिंह की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि हरेंद्र मैदान पर सख्ती बरतते हैं। मैं उनके आने से खुश हूं क्योंकि वह मेरा खेल जानते हैं। अब हमारा ध्यान एकजुट होकर विश्व कप जीतने पर है। 
 

.
.
.
.
.