Sports

नई दिल्ली: भारतीय जिम्नास्ट दीपा कर्माकर जर्मनी के कोटबस में चल रहे कलात्मक जिम्नास्टिक विश्व कप के वॉल्ट फाइनल्स में जगह बनाने में सफल रही लेकिन बी अरुणा के घुटने में चोट लग गई जिससे उनके अभियान का निराशाजनक अंत हुआ। एशियाई खेलों में चोट से जूझने वाली दीपा ने 14.100 का स्कोर बनाया और क्वालीफिकेशन में 16 जिम्नास्टों के बीच छठे स्थान पर रही।

मेलबर्न विश्व कप में महिलाओं की व्यक्तिगत वॉल्ट में कांस्य पदक जीतने वाली अरुणा पहले वॉल्ट के दौरान ही चोटिल हो गयी और उन्हें प्रतियोगिता से बाहर होना पड़ा। भारतीय जिम्नास्टिक महासंघ के उपाध्यक्ष रियाज अहमद भाटी ने कहा, ‘अरुणा अधिक कठिनाई वाले वॉल्ट पर प्रदर्शन करने वाली थी। अभ्यास के समय वह काफी आश्वस्त दिख रही थी लेकिन प्रतियोगिता के दौरान वह जल्दी नीचे आ गई जिससे उनका घुटना चोटिल हो गया। इससे वह दूसरा वॉल्ट नहीं कर पाई। उनका आज एमआरआई किया जाएगा।’

भारतीय पुरुष जिम्नास्टों में राकेश पात्रा ने रिंग्स में 14.000 अंक बनाए और वह 29 खिलाडिय़ों के बीच 14वें स्थान पर रहे। आशीष कुमार भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाए और 13.200 के स्कोर के साथ 37 जिम्नास्टों के बीच 24वें स्थान पर रहे। प्रतियोगिता के दूसरे दीपा बीम, राकेश पैरलल बार्स और आशीष वॉल्ट पर प्रदर्शन करेंगे। कोटबस प्रतियोगिता ओलंपिक 2020 के लिए आठ स्पर्धाओं की क्वालीफाईंग प्रणाली का हिस्सा है जिसमें जिम्नास्ट अपने तीन सर्वश्रेष्ठ स्कोर के आधार पर क्वालीफाई करेगा।

.
.
.
.
.