Sports

लंदनः विम्बलडन के क्वार्टर फाइनल पहुंचे दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडनसन को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए रोजर फेडरर की चुनौती से पार पाना हो गा जिसके लिए वह तैयार है। स्थिति और हालात एंडरसन के मुताबिक नहीं होंगे क्योंकि ऑल इंग्लैंड क्लब में फेडरर 16 वीं बार विम्बलडन मुकाबले के लिए उतरे है और एंडरसन पहली बार यहां क्वार्टरफाइनल में पहुंचे है। एंडरसन इससे पहले चार बार फेडरर के खिलाफ कोर्ट में उतरे है और हर बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा हैं। यही नहीं 20 ग्रैंडस्लैम विजेता के खिलाफ एंडरसन एक भी सेट नहीं जीत सकें हैं।      

फेडरर हर किसी के आदर्श
एंडरसन से जब फेडरर के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘ वह इस खेल में पूरी तरह संपूर्ण है, उनका प्रदर्शन निरंतर है और सप्ताह दर सप्ताह वह अच्छा खेल रहे हैं। कोर्ट में उनका मूव इतना शानदार है कि वह काफी सहज लगता है। उनके पास शॉट की कोई कमी नहीं बैकहैंड और आक्रामक फोरहैंड का इस्तेमाल वह बेहतरीन तरीके से करते हैं। ’’ एंडरसन ने कहा कि 2003 में अपना पहला विम्बलडन खिताब जीतने वाले फेडरर हर किसी के आदर्श हैं।            
PunjabKesari
एंडरसन यह जानकर हैरान है कि पिछले 16 वर्षों में फेडरर सिर्फ एक बार क्वार्टर फाइलन मे हारे है। दक्षिण अफ्रीका के लिए 1994 में वेन फरेरा के बाद विम्बलडन क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाले पहले खिलाड़ी बने एंडरसन ने फेडरर के लिए अपनी योजना बना रखी है। उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे लगता है मेरे खेल के तरीके से उन्हें परेशानी हो सकती है। मैं बड़ा खिलाड़ी हूं, बड़ी र्सिवस करता हूं। मैं उन्हें कड़ी टक्कर दूंगा। यह सिर्फ दूसरा मौका है जब मैं सेंटर कोर्ट पर खेलूंगा। मैं इसे किसी अन्य टेनिस मैच की तरह लूंगा। ’’ 


    

.
.
.
.
.