Sports

नई दिल्लीः युवा क्रिकेटर पृथ्वी शाॅ ने विंडीज के खिलाफ खेले अपने करियर के पहले अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच में शतक लगाकर दुनियाभर में सुर्खियां बटोरीं। पृथ्वी ने 154 गेंदों में 19 चाैकों की मदद से 134 रनों की पारी खेली, जिसे देख कईयों ने यह कह डाला कि वह टीम इंडिया का भविष्य हैं आैर लंबी रेस के घोड़े हैं। वहीं कईयों ने पृथ्वी की तुलना वीरेंद्र सहवाग से की। मानना है कि पृथ्वी ओपनिंग में सहवाग की तरह खेलते हैं, लेकिन इस बीच एक दिग्गज क्रिकेटर ने इस बात को नकारा है। यह क्रिकेटर है साैरव गांगुली। 

सहवाग एक जीनियस थे
PunjabKesari

गांगुली का मानना है कि इतनी जल्दी उनकी तुलना सहवाग से करना उचित नहीं है। गांगुली ने कहा, “उनकी तुलना सहवाग से मत कीजिए। सहवाग एक जीनियस थे। उन्हें अभी विश्व का दौरा करने दीजिए। मुझे विश्वास हैं कि वह ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में रन बनाएंगे।” गांगुली ने कहा, “डेब्यू टेस्ट में शतक बनाने के बाद उनके लिए यह एक असाधारण दिन होना चाहिए। उन्होंने रणजी के पदार्पण में भी शतक बनाया था। इसके अलावा उन्होंने दलीप ट्रॉफी में भी डेब्यू करते हुए शतक जमाया था, इसलिए यह असाधारण है।”
PunjabKesari

पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, “बल्लेबाजी करने के लिए यह उनकी सकारात्मकता, स्वभाव और जो रवैया है वह शानदार है। अंडर-19 विश्वकप खेलना और भारत के लिए टेस्ट मैच खेलना पूरी तरह से अलग है। मैंने आज जो देखा वह आंखों को सकून देने वाला था। मुझे उम्मीद है कि वह भारत के लिए लंबे समय तक खेल सकते हैं।” गांगुली ने कहा, “यह अभी भी शुरूआती दिन है और उन्हें अभी विश्व का दौरा करना है। लेकिन उन्हें बधाई। मुझे लगता है कि आज वह बिल्कुल अद्भुत था।”
PunjabKesari

बता दें कि पृथ्वी इसके साथ ही मोहम्मद अजहरुद्दीन, लाला अमरनाथ, सौरभ गांगुली, शिखर धवन, सुरेश रैना और सहवाग जैसे दिग्गजों की सूची में शामिल हो गए हैं जिन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में शतक बनाए थे।

.
.
.
.
.