Sports

जालन्धर : एडिलेड के मैदान पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे पहले टेस्ट के दौरान दूसरी पारी में खेलने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब हो सकती थी अगर पुजारा का गुड लक उनके साथ नहीं होता। दरअसल ऑस्ट्रेलिया से पहली पारी में 15 रन की मामूली लीड लेने के बाद खेलने उतरी भारतीय टीम ने भले ही ओपनिंग जोड़ी के कारण अच्छी शुरुआत की। लेकिन जैसे ही मुरली विजय आऊट हुए उसके थोड़ी ही देर बाद पुजारा को एक जीवनदान मिल गया। यह जीवनदान इतना अहम था कि अगर पुजारा अपना विकेट खो देते तो भारत की स्थिति दूसरी पारी में खराब हो सकती है। बड़ी बात यह रही कि पुजारा को एक नहीं बल्कि दो बार डीआरएस ने बचाया। दरअसल ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नॉथन लॉयन की गेंदों पर अंपायर पुजारा को आऊट करार दे चुके थे। लेकिन दोनों बार पुजारा ने डीआरएस लिया और अपना विकेट गंवाने से बच गए। 

Punjab Kesari sports Cheteshwar pujara
8 रन पर लिया पहला रिव्यू 

Punjab Kesari sports Cheteshwar pujara
पुजारा जब 8 रन बनाकर खेल रहे थे तब 24वें ओवर में नॉथन की एक गेंद धीमी सी आवाज करते हुए विकेटकीपर टिम पेन के दस्तानों में समा गई। अंपायर ने फौरन ऊंगली उठाई। पुजारा को मालूम था कि गेंद बल्ले पर नहीं लगी है इसलिए उन्होंने डीआरएस ले लिया। आखिरकार पुजारा सही निकले। गेंद उनके पैड पर टकराने के बाद विकेटकीपर के दस्तानों में गई थी। 
देखें वीडियो-

17 रन पर लिया दूसरा रिव्यू
पुजारा को इसके बाद 40वें ओवर में डीआरएस का फायदा मिला। नॉथन की एक गेंद पर अंपायर ने पुजारा को पगबाधा आऊट दे दिया था। लेकिन पुजारा ने डीआरएस लिया तो गेंद उनके विकेट के ऊपर से गुजरती हुई नजर आई। पुजारा तब 17 रन बनाकर खेल रहे थे। 
देखें वीडियो-

.
.
.
.
.