Sports

नई दिल्लीः दो बार के एशियाई चैंपियन राशिद खान ने गुरुवार को दिल्ली गोल्फ क्लब (डीजीसी) पर भेदभाव का आरोप लगाया और कहा कि वह साधारण पृष्ठभूमि से आये गोल्फरों का करियर बर्बाद कर रहा है। राशिद ने कहा कि डीजीसी ने 2012 में कैडी से खिलाड़ी बने गोल्फरों को कोर्स पर अभ्यास करने से रोक दिया है। यह दिल्ली का सबसे मशहूर गोल्फ कोर्स है।      

राशिद ने पत्रकारों से कहा, ‘‘अन्य वर्गों (अच्छे घरों से आए गोल्फरों) के साथ ऐसा नहीं हो रहा है। वे नहीं चाहते हैं कि हम खेलें। उनके (क्लब समिति) अनुसार मुझे सर्दियों में केवल चार बजकर 45 मिनट पर अभ्यास की अनुमति दी जाएगी। मैं 18 होल तक अभ्यास कैसे कर सकता हूं जिसके लिए पांच घंटे चाहिए।’’
rashid khan image     

एशियाई खेल 2010 के रजत पदक विजेता ने कहा, ‘‘मैं वहां खा नहीं सकता, मैं वहां तरणताल का उपयोग नहीं कर सकता, मैं वहां एनेक्सी का उपयोग नहीं कर सकता। इससे मेरी गोल्फ प्रभावित हो रही है और इससे मैं मानसिक रूप प्रभावित हो रहा हूं।’’ राशिद के साथ इस अवसर पर शमीम खान, हनी बैसोया, कपिल कुमार और एडवोकेट विवेक नारायण शर्मा भी उपस्थित थे।       

.
.
.
.
.