Sports

नई दिल्ली : बीसीसीआई के आचरण अधिकारी द्वारा हितों के टकराव के आरोपों में राहुल द्रविड़ को नोटिस होने पर भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और स्पिनर हरभजन सिंह ने नाराजगी जताई है। गांगुली ने इस पर कमेंट किया है कि भारतीय क्रिकेट को भगवान बचाए। वहीं, गांगुली की इस बात का हरभजन सिंह ने भी समर्थन किया है। बीसीसीआई के आचरण अधिकारी जस्टिस (सेवानिवृत) डी के जैन ने मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के सदस्य संजय गुप्ता द्वारा लगाए गए आरोपों पर द्रविड़ को नोटिस दिया।

गांगुली ने ट्वीट किया- भारतीय क्रिकेट में नया फैशन। हितों का टकराव। खबरों में बने रहने का सर्वश्रेष्ठ तरीका। भगवान भारतीय क्रिकेट को बचाए। द्रविड़ को बीसीसीआई के आचरण अधिकारी से हितों के टकराव का नोटिस मिला। हरभजन ने कहा- सच में। समझ नहीं आता कि यह सब किस दिशा में जा रहा है। भारतीय क्रिकेट के लिए उनसे बेहतर कौन हो सकता है। इन महान खिलाडिय़ों को नोटिस भेजना उनका अपमान करना है। क्रिकेट की भलाई के लिए उनकी सेवाओं की जरूरत है।

भारतीय क्रिकेट को वाकई भगवान बचाए। द्रविड़ को नोटिस का जवाब देने के लिए 2 सप्ताह का समय दिया गया है। गुप्ता ने कहा कि द्रविड़ राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के निदेशक और इंडिया सीमेंट्स समूह के उपाध्यक्ष भी हैं जो आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की मालिक कंपनी है। इससे पहले पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण, गांगुली और सचिन तेंदुलकर को भी हितों के टकराव के नोटिस जा चुके हैं।

.
.
.
.
.