Sports

नई दिल्लीः शेर भले ही बूढ़ा हो जाए पर वो शिकार करना नहीं भूलता। यह बात साबित की है भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे सलामी बल्लेबाज गाैतम गंभीर ने। गंभीर ने विजय हजारे ट्राॅफी के राउंड 7 में केरला के खिलाफ हुए मैच के दाैरान 104 गेंदों में 151 रन बनाए आैर टीम को बड़ी जीत दिलाई। 

गंभीर की इस पारी में 18 चाैके आैर 4 छक्के शामिल रहे आैर चोटिल होने के कारण वह रिटाॅयर्ड-हर्ट हुए। गंभीर के पास दोहरा शतक भी पूरा करने का माैका था। जब वह मैदान से बाहर हुए तो मैच के बाकी 10 ओवर बचे थे। खैर, गंभीर ने बड़ी पारी खेल सबका दिल जीत लिया।
PunjabKesari

टीम को दिलाई बड़ी जीत
ग्रुप बी के इस मुकाबले में केरला ने टाॅस जीता आैर दिल्ली को पहले बल्लेबाजी करने का आमंत्रण दिया। केरला का यह फैसला दिल्ली की ओपनर जोड़ी गाैतम गंभीर आैर उनमुक्त चंद ने गलत साबित कर दिया। दोनों ने पहले विकेट के लिए 25.2 ओवर में 175 रन जोड़े। उनमुक्त 69 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद तीसरे नंबर पर आए ध्रुव शोरे ने नाबाद 99 आैर प्रंसु विजयरन ने नाबाद 48 पारी खेल केरला के सामने 393 रनों का बड़ा स्कोर रखा। 

जवाब में केरला की टीम 8 विकेट के नुकसान पर निर्धारित 50 ओवर में 227 रन ही बना सकी आैर दिल्ली ने 165 रनों से मुकाबला जीत लिया। इसी के साथ दिल्ली की टीम अपने ग्रुप बी में 5 मैचों में +1.463 की रन रेट के सहारे 14 अंकों के साथ पहले स्थान पर काबिज है।